पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • Gurgaon
  • Union Minister Rao Inderjit Reached Village Bhondsi And Expressed His Condolences By Meeting The Family Members Of Martyr Tarun Bhardwaj.

शहीद को श्रद्धांजलि:केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत ने गांव भौंडसी पहुंचकर शहीद तरुण भारद्वाज के परिजनों से मुलाकात कर अपनी संवेदनाएं प्रकट की

गुड़गांव14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शहीद तरुण की फोटो पर पुष्प चढ़ाते केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह। - Dainik Bhaskar
शहीद तरुण की फोटो पर पुष्प चढ़ाते केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह।
  • 09 सितंबर को नियमित पेट्रोलिंग के समय हुए हिमस्खलन की चपेट में आने से तरुण भारद्वाज मृत्य हो गयी थी।

गुड़गांव में केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने गुरूग्राम जिला के गांव भौंडसी पहुंचकर गांव के हाल ही में शहीद हुए तरुण भारद्वाज को श्रद्धांजलि अर्पित की। शोक संतप्त परिवार को ढांढस बंधाया। 16 राजपूत बटालियन से जुड़े शहीद तरुण भारद्वाज पिछले 1 साल से सियाचिन में अपनी सेवाएं दे रहे थे।

सेना में भर्ती होने के बाद यह उनकी पहली पोस्टिंग थी। 09 सितंबर को नियमित रूप से की जाने वाले पेट्रोलिंग के समय हुए हिमस्खलन की चपेट में आने से उनकी मृत्य हो गयी थी। तीन भाइयों में सबसे छोटे रहे तरुण ने पिछले वर्ष ही सेना ज्वाइन की थी। तरुण भारद्वाज के पिता नंदकिशोर भारद्वाज भी सेना में अपनी सेवाएं देने के उपरांत 2001 में सेवानिवृत्त हुए थे।

केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने भौंडसी गांव पहुंचकर शहीद तरुण भारद्वाज की फोटो पर पुष्प चढाकर उनकी शहादत को नमन किया। उन्होंने उनके परिजनों से मुलाकात कर अपनी शोक संवेदनाएं प्रकट की।

इस अवसर पर राव ने तरुण के पिता नंदकिशोर भारद्वाज को अपनी संवेदनाएं प्रकट करते हुए कहा कि एक पिता के लिए इस से बड़ा दुख नही हो सकता कि उसका जवान बेटा उसके सामने दुनिया से चला जाये। उन्होंने कहा कि हम आपका दुख तो कम नही कर सकते लेकिन उसमें साझीदार होकर दुख को बांट जरूर सकते हैं। उन्होंने कहा कि इस दुख की घड़ी में हम आपके साथ हैं। कोई भी मेरे लायक सेवा होगी, मैं उसके लिए हाजिर हूं।

केंद्रीय मंत्री ने इसके उपरान्त शहीद तरुण की माँ के पास जाकर उनको सांत्वना देते हुए कहा कि आप धन्य है जो आपने ऐसे वीर बेटे को जन्म दिया। उन्होंने कहा कि यह देश तरुण के माँ भारती के लिए दिए सर्वोच्च बलिदान को सदैव याद रखेगा।

खबरें और भी हैं...