पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आरोपी की कराई गई वीडियोग्राफी:अपनी पुत्रवधू समेत 4 लोगों की हत्या करने वाले आरोपी पूर्व फौजी की जेल में कराई वीडियोग्राफी

गुड़गांव11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गुड़गांव. राजेंद्रा पार्क क्षेत्र में चार लोगों की हत्या मामले में जांच करती पुलिस। - Dainik Bhaskar
गुड़गांव. राजेंद्रा पार्क क्षेत्र में चार लोगों की हत्या मामले में जांच करती पुलिस।
  • घायल बच्ची को अस्पताल से छुट्‌टी मिलने के बाद कृष्ण तिवारी के परिजनों के साथ गई
  • वायरल वीडियो में हथियार लेकर जाते दिखे व्यक्ति की चाल-ढाल से मिलाने करने के लिए की गई वीडियोग्राफी

अपनी पुत्रवधू समेत चार लोगों की बेरहमी से हत्या करने के आरोपी पूर्व फौजी राव राय सिंह की गत शनिवार को जेल में ही वीडियोग्राफी कराई गई। पुलिस ने कई बिंदुओं पर आधारित करीब सात से आठ मिनट की वीडियोग्राफी कराई गई है। इसकी जांच फारेंसिक लैब में होगी। रिपोर्ट से साफ होगा कि हत्याकांड के बाद वायरल वीडियो जिसमें लंबा हथियार लिए जाने वाला व्यक्ति राय सिंह ही है या कोई और।

वायरल सीसीटीवी फुटेज में जो व्यक्ति हाथ में हथियार लेकर जाता दिख रहा है। आरोपी की चाल-ढाल पर वीडियोग्राफी पहली बार गुरुग्राम पुलिस ने किसी आरोपी की कराई है। इस मामले में पूर्व फौजी राव राय सिंह के साथ ही उसकी पत्नी बिमलेश भी जेल में बंद है। वहीं इस हत्याकांड के दौरान घायल पाई गई बच्ची अब पूरी तरह ठीक है और कृष्ण तिवारी का परिवार उसे अपने साथ ले गया है।

विधि को छोड़कर अन्य की मौके पर ही मौत हो गई थी

राजेंद्रा पार्क निवासी राव राय सिंह ने गत 23 अगस्त की रात को अपनी पुत्रवधू सुनीता यादव के साथ ही किरायेदार कृष्णा तिवारी, उनकी पत्नी अनामिका तिवारी, बेटी सुरभि एवं विधि के ऊपर गंडासा से हमला किया था। विधि को छोड़कर अन्य की मौके पर ही मौत हो गई थी। वारदात के बाद आरोपी हथियार लेकर थाने में सरेंडर करने के लिए पहुंच गया था।

पीड़ित पक्ष का आरोप है कि मामले में केवल राव राय सिंह ही नहीं बल्कि कई अन्य भी शामिल हो सकते हैं। एक आदमी पांच लोगों के ऊपर हमला नहीं कर सकता है। इसे देखते हुए राजेंद्रा पार्क थाना पुलिस कई बिंदुओं से जांच कर रही है। इसी दिशा में शनिवार को वीडियोग्राफी कराई गई। वीडियोग्राफी के दौरान राजेंद्रा पार्क थाना प्रभारी प्रवीण कुमार के साथ ही डिप्टी जेलर चरण सिंह भी उपस्थित थे।

आरोपी के वकील ने कहा- वीडियोग्राफी का कोई लाभ नहीं होगा

वहीं दूसरी ओर आरोपी राव राय सिंह के वकील प्रशांत यादव से शुरू से ही तर्क दे रहे हैं कि किसी के चलने का मिलान संभव नहीं है। वीडियोग्राफी का कोई लाभ नहीं होगा। इस बारे में एसीपी राजीव यादव का कहना है कि बहुत ही गंभीर मामला है। इसे देखते हुए एसआइटी एक साथ कई बिंदुओ से जांच कर रही है। मामले में यदि अन्य आरोपी होंगे तो उन्हें भी गिरफ्तार किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...