पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • Gurgaon
  • Wherever The Debris Lying In The City Became A Headache For The Municipal Corporation, The Corporation Commissioner Gave Orders To Clean It

आदेश:शहर में जहां तहां पड़ा मलबा नगर निगम के लिए बना सिरदर्द, निगम कमिश्नर ने दिए साफ करने के आदेश

गुड़गांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पूरे शहर में जहां तहां पड़ा मलबा नगर निगम के लिए सिरदर्दी बना हुआ है। समुचित व्यवस्था नहीं होने के कारण लोग भवन का मलबा जहां तहां डाल रहे हैं। इसकी गम्भीरता को देखते हुए नगर निगम गुड़गांव के आयुक्त मुकेश कुमार आहुजा ने सीएंडडी वेस्ट प्रबंधन के बारे में अधिकारियों के साथ बैठक की तथा कहा कि शहर में निर्धारित स्थानों के अलावा सड़कों के किनारों तथा खाली प्लाटों आदि में पड़े मलबे को उठाकर शहर को साफ करें।

बैठक में अधिकारियों ने बताया कि नगर निगम द्वारा सीएंडडी वेस्ट की डंपिंग के लिए 5 स्थान चिन्हित किए हुए हैं, जिन्हें सैकेंडरी प्वाईंट कहा जाता है। इनमें सेक्टर-56, कादीपुर के पास, ट्रांसपोर्ट नगर, प्वाला खुसरूपुर तथा वजीराबाद आदि स्थान शामिल हैं। मलबे की प्रोसेसिंग के लिए आईएलएंडएफएस द्वारा बसई में प्लांट लगाया हुआ है, जो मौजूदा समय में 300 टन प्रतिदिन की क्षमता के हिसाब से कार्य कर रहा है।

पूर्व में अनाधिकृत मलबा डंपिंग पर अंकुश लगाने तथा उल्लंघनकर्ताओं पर जुर्माना करने का भी प्रावधान है। डोर-टू-डोर मलबा उठान के लिए एक एजेंसी को हायर किया गया था, जो एसेसमैंट के बाद नगर निगम में फीस जमा होने के बाद घर से मलबा उठाकर सैकेंडरी प्वाईंट पर डालती थी। इसके बावजूद स्थिति बदतर हो रही है।

निगमायुक्त ने कहा कि पूर्व निर्धारित 5 साइटों के अलावा, अन्य साइटों की भी पहचान करें तथा इस दौरान इस बात का विशेष ध्यान रखें कि भविष्य में वहां पर प्रोसेसिंग भी की जा सके। उन्होंने बसई प्लांट की क्षमता बढ़ाने के निर्देश भी संबंधित अधिकारियों को दिए।

खबरें और भी हैं...