पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • 100 Million Vaccine Doses Are Ready In The Country, Why Vaccines For Common People From Mid March?

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भास्कर सवाल:देश में 10 करोड़ वैक्सीन डोज तैयार फिर आम लोगों को टीके मार्च के मध्य से क्यों?

नई दिल्ली15 दिन पहलेलेखक: पवन कुमार/प्रमोद कुमार
  • कॉपी लिंक
कोरोना टीकाकरण - Dainik Bhaskar
कोरोना टीकाकरण
  • देश में टीकाकरण की रफ्तार एक महीने बाद भी धीमी, सरकार का दावा था रोज 10 लाख से ज्यादा टीके लगेंगे, लगे सिर्फ 2.6 लाख रोज
  • दिल्ली-चंडीगढ़ में टीका केंद्रों पर सिर्फ 20-25 लोग आ रहे, केंद्र ने माना- क्षमता बढ़ानी होगी

देश में कुल 80 लाख लोगों को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। इनमें 10 लाख फ्रंटलाइन वर्कर हैं। केंद्र सरकार ने मार्च मध्य तक 3 करोड़ लोगों (हेल्थ-फ्रंटलाइन वर्कर्स) को टीके लगाने का लक्ष्य रखा है, जो अब तक एक तिहाई भी पूरा नहीं हुआ है। दिल्ली, चंडीगढ़ समेत कुछ राज्य ऐसे हैं, जहां टीका केंद्रों पर दिनभर सिर्फ 20-25 लोग पहुंचने की खबरें आ रही हैं। कई राज्यों में सैकड़ों वैक्सीनेशन सेंटर फिलहाल बंद कर दिए गए हैं। क्योंकि, ज्यादातर केंद्रों को मिला दिया गया है।

कहा जा रहा है कि आगे जब आम लोगों को टीके लगने शुरू होंगे, ये केंद्र दोबारा शुरू किए जाएंगे। इन केंद्रों पर टीकाकरण की सभी सुविधाएं मौजूद हैं। दूसरी ओर, केंद्र सरकार कह रही है कि 50 साल से ज्यादा उम्र के 27 करोड़ लोगों को मार्च के मध्य से टीके लगने शुरू होंगे। ऐसे में सवाल उठता है कि इन लोगों को एक महीने का इंतजार क्यों कराया जा रहा है?

अभी देश में 10 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन डोज तैयार हैं। 8 करोड़ डोज हर महीने बनने लगी हैं। अब न तो वैक्सीन की कमी है, न ही एक महीने में कहीं भी सप्लाई और स्टोरेज चेन में कोई खामी नजर आई है और टीका केंद्र भी तैयार हैं। इसलिए, केंद्र और राज्य सरकारें चाहे तो आम लोगों को भी टीका लगवाने के लिए फरवरी में ही केंद्रों पर बुला सकती हैं।

राज्य भी तैयार मप्र के स्वास्थ्य मंत्री बोले- हमने तो पिछले साल तैयारी कर ली थी
मध्यप्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी ने कहा- ‘अगर केंद्र सरकार हमसे कहती है कि 50 से ज्यादा उम्र के लोगों को भी टीके लगाने शुरू कर दें तो हम पूरी तरह तैयार हैं। हमारे पास 48 हजार हेल्थ वर्कर्स का अमला है। हमने तो टीके की तैयारियां भी पिछले साल मई में ही शुरू कर दी थीं।’

चीन, अमेरिका, ब्रिटेन और भारत में टीकाकरण की रफ्तार
चीन, अमेरिका, ब्रिटेन और भारत में टीकाकरण की रफ्तार

भारत में अब रोज 3.65 लाख टीके लग रहे हैं, जबकि अमेरिका में 17 लाख लग रहे हैं

भारत में 16 जनवरी को टीकाकरण के पहले दिन 1.92 लाख टीके लगे थे। उस दिन अमेरिका में 8.4 लाख लगे थे। अब एक महीने बाद अमेरिका में रोज 17 लाख टीके लग रहे हैं, जबकि भारत में रोज 3.65 लाख टीके ही लग रहे हैं।

आईसीएमआर के चेयरमैन डॉ. नरेंद्र अरोड़ा से सवाल जवाब

सवालःटीकाकरण में तेजी क्यों नहीं आ पाई है?
जवाबः अभी कोविन एप की तैयारियां बाकी हैं

सवालःरोज 10 लाख टीकों का दावा था, पर एक महीने बाद भी रोज का आंकड़ा 4 लाख नहीं पहुंचा, क्यों?
जवाबः यह सही है कि टीकाकरण में धीरे-धीरे रफ्तार नहीं आई तो बड़ी दिक्कत हो जाएगी। इसलिए, हम सिस्टम को दुरुस्त कर रहे हैं। हमने 3 हजार टीका केंद्रों से शुरुआत की थी, अब 10 हजार केंद्र हैं। हालांकि, यह भी सही है कि इनमें क्षमता से 35-40% कम टीके लग रहे हैं।

सवालः तो फिर 50 साल से ज्यादा उम्र के 50 करोड़ लोगों को भी टीके लगाने शुरू क्यों नहीं कर सकते?
जवाबः अभी कोविन एप डैशबोर्ड की कुछ तैयारियां बाकी हैं। यह भी देरी का बड़ा कारण है।

सवालः टीकाकरण अभियान रफ्तार कब पकड़ेगा?
जवाबः हम रोज 70 से 80 लाख टीके लगाने की तैयारी कर रहे हैं। तभी जुलाई तक 30 करोड़ लोगों को टीके लगाने का लक्ष्य पूरा हो सकेगा। इसके लिए आने वाले समय में 50 हजार टीका केंद्र बनाए जाएंगे। राज्यों को योजना भेज दी गई है।

सवालः इस हिसाब से तो हमें रोज 80 लाख डोज की जरूरत पड़ेगी, क्या यह संभव है?
जवाबःहां, संभव है। हमारे पास जरूरत से ज्यादा वैक्सीन हैं। अभी दो कंपनियां वैक्सीन बना रही हैं। आगे पांच और कंपनियां बनाने लगेंगी। अगले साल देश में 250 करोड़ टीके बनने लगेंगे।

सवालः भारत में अब रोज 3.65 लाख टीके लग रहे हैं, जबकि अमेरिका में 17 लाख लग रहे हैं
जवाबः भारत में 16 जनवरी को टीकाकरण के पहले दिन 1.92 लाख टीके लगे थे। उस दिन अमेरिका में 8.4 लाख लगे थे। अब एक महीने बाद अमेरिका में रोज 17 लाख टीके लग रहे हैं, जबकि भारत में रोज 3.65 लाख टीके ही लग रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें