डूटा ने कहा:आर्थिक संकट से ग्रस्त दिल्ली सरकार द्वारा वित्तपोषित 12 कॉलेज

नई दिल्ली13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

दिल्ली विश्वविद्यालय से सम्बद्ध आम आदमी पार्टी के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार द्वारा वित्तपोषित 12 कॉलेजों आर्थिक संकट से ग्रस्त है। शिक्षकों, कर्मचारियों के वेतन के साथ-साथ यह कॉलेज पिछले दो वर्षों से चिकित्सा बिलों, विभिन्न भत्ते, सातवें वेतन आयोग के लागू होने के बाद देय बकाया भुगतान राशि सहित अन्य बकाया राशि का भुगतान कर पाने में असमर्थ हैं।

कॉलेजों की इस दुर्दशा के लिए जिम्मेदार केजरीवाल सरकार के खिलाफ गुरुवार को एक दिवसीय हड़ताल के बाद दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ (डूटा) के नेतृत्व में शुक्रवार को ऑनलाइन जन सुनवाई का आयोजन किया गया। इस आयोजन में प्रमुख रूप से संसद सदस्य प्रो. मनोज झा, रवनीत बिट्टू, दिल्ली विश्वविद्यालय कार्यकारी परिषद के सदस्य व अधिवक्ता अशोक अग्रवाल, मोनिका अरोड़ा, राजपाल, आर्यभट्ट कॉलेज के प्रिंसिपल प्रो. मनोज सिंहा और दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता भी सम्मिलित हुए।

डूटा अध्यक्ष प्रोफेसर अजय कुमार भागी ने बताया कि दिल्ली की केजरीवाल सरकार जिस से कोरोना संकट के समय में शिक्षकों व कर्मचारियों के प्रति अमानवीय रवैया अपनाए हुए है। अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षाओं की पूर्ति के लिए इन 12 कॉलेजों की स्वायत्ता का लगातार हनन कर रही है। सरकार कह रही है कि हमने अनुदान जारी किया है जबकि स्थिति सभी के समझ स्पष्ट है। जो फंड जारी करने की बात सरकार कर रही है वो नाकाफी है।

खबरें और भी हैं...