पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना का डर:सर्दियों में दिल्ली में रोज आ सकते 15 हजार नए मामले

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एनसीडीसी ने डीडीएमए को सौंपी रिपोर्ट
  • अस्पतालों में अनुमान के अनुसार तैयारी करने को कहा

सर्दियों के मौसम में दिल्ली में प्रतिदिन 15 हजार कोरोना के मामले आने के अनुसार अस्पतालों में तैयारी रखने का सुझाव दिया गया है। यह रिपोर्ट नेशनल सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल (एनसीडीसी) ने नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल की अध्यक्षता वाले एक्सपर्ट पैनल के निर्देश पर तैयार की है।

एनसीडीसी ने अपनी रिपोर्ट दिल्ली आपदा प्रबंध प्राधिकरण (डीडीएमए) को सौंप दी है। दिल्ली में कोरोना नियंत्रण के लिए संशोधित रणनीति 3.0 नाम की रिपोर्ट में कहा गया है कि सर्दियों में सांस की समस्या और गंभीर हो जाती है। त्यौहारों में भीड़ भाड़ बढ़ती है, जिससे संक्रमण फैल सकता है। इसके अलावा बाहर से भी मरीजों के आने की संभावना जताई गई है।

रिपोर्ट में सरकार को अनुमानित 15 हजार मरीजों के रोज आने के अनुसार अपनी तैयारी रखने को कहा गया है। इसके लिए अनुमानित संख्या के 20 प्रतिशत को अस्पताल में भर्ती करने के इंतजाम रखने का सुझाव दिया गया है। रिपोर्ट में बताया गया है कि केरल में ओणम और महाराष्ट्र में गणेश चतुर्थी में संक्रमण तेजी से बढा।

यदि ऐसा होता है तो अभी तक के किए गए सारे काम पर पानी फिर सकता है। इसे दिल्ली में रोकना होगा। आने वाले समय में छठ पूजा, दिवाली, दशहरा, क्रिसमस, ईद, न्यू ईयर के त्यौहार है। रिपोर्ट में सलाह दी है कि त्यौहारों में भीड़ को इकट्ठा होने से रोकने के प्रयास किए जाए।

सिर्फ टेस्टिंग बढ़ाने से फायदा नहीं
रिपोर्ट में दिल्ली में टेस्टिंग की संख्या बढ़ाने पर भी सवाल उठाए गए है। रिपोर्ट में कहा गया है कि टेस्टिंग में कोई विशेष तरीका नहीं अपनाया गया है। कुछ जिलों में पॉजिटिविटी रेट ज्यादा है, जबकि वहां पर टेस्टिंग कम हुई है। रिपोर्ट में टेस्टिंग को कंटेंनमेंट जोन और संक्रमित के संपर्क में आने वालों को ट्रेस करने के लिए लक्षित करने को कहा गया है।

टेस्ट ज्यादा, पॉजिटिविटी रेट कम
रिपोर्ट में कहा गया है कि कुल टेस्ट में 80 प्रतिशत रैपिड है,इसका पॉजिटिविटी रेट 4.3 प्रतिशत है। जबकि आरटी-पीसीआर से किए जा रहे बाकी 20 प्रतिशत टेस्ट का पॉजिटिविटी रेट 20.33 प्रतिशत है। यह निष्कर्ष 24 सितंबर तक के आकड़े के दिया गया है।

​​​​​​​
मृत्युदर रोकने का सुझाव
रिपोर्ट के अनुसार कंटेंनमेंट जोन और संक्रमित के संपर्क में आने वाले लोगों का प्रतिशत कुल टेस्टिंग में 20 प्रतिशत है। इसे बढ़ाने का सुझाव दिया गया है। साथ ही गंभीर मरीजों के टेस्ट और ट्रक कर समय पर इलाज उपलब्ध कराने से मौतों को रोकने की बात कही है। रिपोर्ट में मृत्युदर को रोकने पर काम करने को कहा गया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर विजय भी हासिल करने में सक्षम रहेंगे। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से ...

और पढ़ें