• Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • 20 Wi fi Hot Spots Will Be Installed In Each Ward Of North MCD, This Will Increase Employment Opportunities.

इंटरनेट की सुविधा:नार्थ एमसीडी के प्रत्येक वार्ड में लगाए जाएंगे 20-20 वाई-फाई हॉट-स्पॉट, इससे रोजगार के अवसर बढ़ेगें

नई दिल्ली8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बाधा नहीं बनेगा नेटवर्क, शुरू हुई पीएम वाणी योजना, निजी कंपनियों के मुकाबले सस्ता होगा

उत्तरी दिल्ली नगर निगम के प्रत्येक वार्ड में वार्ड में 20-20 वाई-फाई हॉट स्पॉट लगाएं जाएंगे। इससे इंटरनेट का नेटवर्क बाधा नहीं बनेगा। यह बात नार्थ एमसीडी के महापौर जय प्रकाश ने सोमवार को प्रधानमंत्री एक्सेस नेटवर्क इंटरफेस (पीएम वानी) का शुभारंभ करते हुए कही। उन्होंने कहा कि आज इंटरनेट हम सभी के लिए बहुत महत्वपूर्ण हो गया है।

पढ़ाई से लेकर बैंक तक के कार्य इंटरनेट के माध्यम से किए जाते है। इस योजना के तहत निगम के हर वार्ड में 20-20 वाई-फाई हॉट स्पॉट लगाएं जाएंगे। उन्होंने बताया कि दिल्ली में अनधिकृत कालोनियों और झुग्गी बस्तियों में अब भी वाई-फाई की बेहतर नहीं हैं। ऐसे में यहां रहने वाले बच्चों को चाहे स्कूली शिक्षा या फिर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए इंटरनेट की सुविधा की सख्त जरूरत है।

ऐसे में पीएम वाणी योजना के तहत गरीब लोगों को सस्ते और तेज गति वाले इंटरनेट की सुविधा मिलेगी। वहीं दिल्ली सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी ने लोगो को मुफ्त वाई-फाई सुविधा देने का वादा किया था जिसे वो 6 साल में भी पूरा नहीं कर पाए।

लोगों को मिलेगा रोजगार | इस योजना से क्षेत्र में लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे। महापौर ने बताया कि लोग स्क्रैच कूपन के माध्यम से 1 दिन के लिए 5 रूपये, 1 सप्ताह के लिए 20 रुपये व एक महीने के लिए 100 रुपये तक मासिक शुल्क देकर वाई-फाई की सुविधा ले सकेंगे। उन्होंने बताया कि अन्य निजी वाई.फाई प्रदाता कंपनियों के मुकाबले यह बहुत ही सस्ता होगा।

फ्री वाई-फाई के नाम पर भ्रमित कर रहे महापौर मुकेश गोयल

नार्थ एमसीडी में कांग्रेस दल के नेता मुकेश गोयल ने महापौर द्वारा लांच की गई फ्री वाई.फाई योजना पर सवाल उठाते हुए कहा कि अभी तक इंटरनेट मुहैया कराने वाली कंपनी ही तय नहीं हो पाई है। हर वार्ड में इसके लिए 20 राउटर लगाये जाने हैं, लेकिन अभी तक राउटर लगाने के लिए स्थान तक चिन्हित नहीं हो पाये हैं। यह योजना हवा-हवाई है।

उन्होंने कहा कि निगम के गोदामों में छोटे-मोटे कामों की मरम्मत के लिए सीमेंट तक नहीं है। पिछले वर्षों में निगम पार्षदों को अपने वार्डों में विकास कार्य कराने के लिए एक पैसा नहीं मिला है। सिंचाई का पानी बंद हो जाने की वजह से निगम के पार्कों में धूल उड़ रही है।

निगम विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों को पिछले एक साल में वर्दी, किताबें, स्टेशनरी, वजीफा, जूता सहित अन्य की राशि का एक पैसा तक नहीं मिला है। निगम के स्कूली बच्चों को बीते एक साल में एक भी दिन का मिड डे मील नहीं दिया गया।

खबरें और भी हैं...