तीनाें परीक्षण पूरे, फिलहाल आपात इस्तेमाल हो सकता है:बच्चों की वैक्सीन जायकोव-डी काे मिल सकती है मंजूरी

नई दिल्ली4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देश में बच्चाें के लिए भी काेराेना टीका मिलने की उम्मीद बढ़ गई है। अहमदाबाद की कंपनी जायडस कैडिला यह टीका (जायकोव-डी) बना रही है। इसे आपात इस्तेमाल की जल्द मंजूरी मिलने की संभावना है। खबरों के मुताबिक कंपनी भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) को इसी सप्ताह टीके के परीक्षण की अतिरिक्त जानकारी सौंपने वाली है।

कंपनी ने 12 से 18 साल के बच्चाें पर इस टीके के तीनाें परीक्षण पूरे कर लिए हैं। पिछले दिनाें डीसीजीआई ने कंपनी से इस संबंध अतिरिक्त डाटा मांगा था। यह संतोषजनक पाया गया तो टीके को आपात इस्तेमाल की अंतिम मंजूरी अगस्त में दी जा सकती है। सितंबर-अक्टूबर में यह टीका बाजार में उपलब्ध हाेने की उम्मीद है। कंपनी ने एक जुलाई को इस के आपात उपयोग की मंजूरी का आवेदन दिया था।

दुनिया का पहला प्लास्मिड टीका: जायकोव-डी दुनिया पहला प्लास्मिड डीएनए आधारित टीका है। मंजूरी मिलने पर यह भारत बायाेटेक के काेवैक्सीन के बाद दूसरा स्वदेशी टीका होगा। कोरोना से बचाव के लिए इसकी तीन खुराकें 12 से 18 साल के बच्चों काे लगाई जाएंगी।

खबरें और भी हैं...