पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पटरी पर वापसी:15 अगस्त के बाद रफ्तार भर सकती दिल्ली मेट्रो: केवल 50% यात्री ही कर पाएंगे सफर

दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो
  • 4 माह बाह फिर से पटरी पर दोड़ सकती है दिल्ली मेट्रो
  • यात्रियों को जांच से पहले बेल्ट और पर्स खुद हटाना होगा

लॉकडाउन के कारण 4 महीने से भी अधिक समय से ठप दिल्ली मेट्रो के जल्द ही रफ्तार पकड़ सकती है। सूत्रों की माने तो 15 अगस्त के बाद मेट्रो फिर से कभी भी पटरी पर उतर सकती है। जानकारी के मुताबिक दो दिन पहले डीएमआरसी निदेशकों की हाईलेवल बैठक में मेट्रो परिचालन को लेकर चर्चा हुई थी। जिसमें कहा गया कि डीएमआरसी मेट्रो के परिचालन को लेकर हाई अलर्ट पर है, शॉर्ट नोटिस पर मेट्रो को चलाया जा सकता है। मेट्रो के कार्यकारी निदेशक (जनसंपर्क) अनुज दयाल के अनुसार डीएमआरसी ने यात्रियों को संक्रमण से बचाव के सभी इंतजाम कर चुकी है। केन्द्र सरकार से परिचालन शुरू करने के लिए जैसे ही हरी झंडी मिलती है ऐसे ही मेट्रो का परिचालन शुरु कर दिया जाएगा।

सीआईएसएफ के अधिकारियों के अनुसार यात्रियों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए मेट्रो स्टेशन परिसर से लेकर ट्रेनों तक में तमाम इंतजाम किए हैं। स्टेशन में प्रवेश से लेकर प्लेटफार्म और मेट्रो के कोचों में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए एक सीट छोड़कर दूसरी सीट पर स्टीकर लगाए गए हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना को देखते हुए मेट्रो परिचालन शुरु होने के साथ सिर्फ 50 फीसदी यात्री ही सफर कर पाएंगे। मेट्रो के 5 कोच की मेट्रो ट्रेन में सिर्फ 200 और 6 कोच की ट्रेन में 300 यात्री ही सफर कर सकेंगे। िल्ली मेट्रो को संचालन नहीं होने से दिल्ली मेट्रो रेल निगम को रोजाना 10 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है। इस तरह 4 महीने से मेट्रो ट्रेनों का संचालन नहीं होने के चलते डीएमआरसी को 1300 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हो चुका है। 15 अगस्त के बाद मेट्रो ट्रेनों के संचालन की अनुमति मिली तो जहां एक ओर डीएमआरसी की वित्तीय स्थिति में सुधार होगा, वहीं यात्रियों को भी राहत मिलेगी। डीएमआरसी ने अभी तक 3,337 करोड़ रुपये का भुगतान कर दिया है और अब उसके ऊपर जिका का 31,861 करोड़ रुपये बकाया है। पिछले कुछ महीनों में सेवाओं के बंद होने से दिल्ली मेट्रो को लगभग 1,300 करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान हुआ है।

हर यात्री को मास्क पहनना अनिवार्य होगा। सफर के लिए हर यात्री को अपने मोबाइल में आरोग्य सेतु एप अनिवार्य रूप से डाउनलोड करना होगा। जिन यात्रियों के शरीर तापमान को थर्मल स्कैनिंग में अधिक(बुखार) होगा उन्हें स्टेशन परिसर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। मेट्रो स्टेशन एंट्री गेट पर हैंड सैनेटाइज़र और हैंड वाश का इंतजाम होगा। कुछ दिनों केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने मेट्रो को लेकर कहा था कि ट्रेनों के संचालन की अनुमति के साथ फिलहाल स्वास्थ्य कर्मियों के साथ ही जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को ही मेट्रो में यात्रा करने दी जाएगी। यहां तक कि यात्रियों को जांच से पहले बेल्ट और पर्स खुद हटाना होगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज किसी समाज सेवी संस्था अथवा किसी प्रिय मित्र की सहायता में समय व्यतीत होगा। धार्मिक तथा आध्यात्मिक कामों में भी आपकी रुचि रहेगी। युवा वर्ग अपनी मेहनत के अनुरूप शुभ परिणाम हासिल करेंगे। तथा ...

और पढ़ें