• Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • DHBVN Launched 'DHBVN Through Entrepreneur's Door' Program From Gurugram To Facilitate Entrepreneurs

उद्यमी के द्वार:डीएचबीवीएन ने उद्यमियों की सुविधा के लिए गुरूग्राम से शुरू किया ‘उद्यमी के द्वार डीएचबीवीएन ‘ कार्यक्रम

गुड़गांव2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • गुरूग्राम के बाद इस प्रकार का कार्यक्रम फरीदाबाद तथा रेवाड़ी में किया जाएगा

दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम (डीएचबीवीएन) ने गुरुवार को गुरूग्राम से ‘उद्यमी के द्वार डीएचबीवीएन‘ कार्यक्रम की शुरूआत की। यह कार्यक्रम प्रदेश के डीएचबीवीएन के सभी 12 जिलों में चरणबद्ध तरीके से चलाया जाएगा। गुरूग्राम के बाद इस प्रकार का कार्यक्रम फरीदाबाद तथा रेवाड़ी में किया जाएगा। बिजली निगमों के अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास ने डीएचबीवीएन की इस नई पहल की शुरूआत चंडीगढ़ मुख्यालय से वर्चुअल माध्यम से की।

गुरूग्राम में यह कार्यक्रम सेक्टर-43 स्थित पावर ग्रिड के एमपी हॉल में किया गया था जहां पर एक ही दिन में 100 उद्यमियों को बिजली कनेक्शन रिलीज तथा स्वीकृति पत्र मौके पर दिए गए।

कार्यक्रम में डीएचबीवीएन के प्रबंध निदेशक पीसी मीणा के साथ निगम के समस्त वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

मीणा ने कहा कि डीएचबीवीएन देश में रेटिंग में 5वें स्थान पर है और हमारा प्रयास है कि बिजली सुविधाओं में और अधिक सुधार लाते हुए इसे पहले पायदान पर लाया जाए। उन्होंने कहा कि हमारे कनेक्शनों में 25 प्रतिशत कनेक्शन औद्योगिक ईकाइयों के हैं। डीएचबीवीएन के एटी एंड सी लॉसिज अब कम होकर मात्र 15 प्रतिशत रह गए हैं।

मीणा ने उद्योगों को बिजली निगम के अच्छे क्लाइंट बताते हुए कहा कि ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की तर्ज पर ‘ ईज ऑफ कनेक्शन‘ की सुविधा उद्यमियों को दी जाएगी ताकि वे अपनी उर्जा को कनेक्शन प्राप्त करने की जद्दोजहद की बजाय अपने उद्योग को स्थापित करने में लगाएं।

सहयोग के लिए नियुक्त होंगे रिलेशनशिप मैनेजर

उद्यमियों की सुविधा के लिए बैंको की तर्ज पर डीएचबीवीएन द्वारा जल्द ही रिलेशनशिप मैनेजर (आरएम) की परिकल्पना को लागू किया जाएगा ताकि उद्यमियों को अपनी बिजली संबंधी समस्याओं के समाधान के लिए इधर-उधर ना भटकना पड़े। ये रिलेशनशिप मैनेजर उद्यमियों का सहयोग करेंगे और उनकी बिजली संबंधी समस्याओं के समाधान करवाएंगे। उद्यमी को केवल रिलेशनशिप मैनेजर से संपर्क करना है।

8 मिनट के गैप को भी कम करने का भरोसा

मीणा ने कहा कि डीएचबीवीएन के क्षेत्र में उद्योगों को औसतन 23 घंटे 52 मिनट बिजली आपूर्ति की जा रही है। इस 8 मिनट के गैप को भी कम करने की कोशिश जारी है।जिन फीडरों में बिजली कट ज्यादा हैं, उनमें सुधार किया जा रहा है। उद्योगों को जनरेटर फ्री करने की दिशा में काम किया जा रहा है ताकि वातावरण में प्रदूषण भी कम हो।

पेमेंट ऑप्शन का होगा विस्तार

मीणा ने बताया कि बिजली उपभोक्ताओं को बिल अदायगी के लिए कई पेमेंट ऑप्शन दिए जा रहे हैं, फिर भी इन ऑप्शन में विस्तार किया जाएगा। उन्होंने ये भी बताया कि गलत बिजली बिल आदि संबंधी समस्याओं के निवारण के लिए कमर्शियल बैक ऑफिस (सीबीओ) का एक्सटेंशन सेंटर गुरूग्राम में जल्द ही शुरू किया जाएगा।

मीणा ने कार्यक्रम में उपस्थित उद्यमियों की एसोसिएशनों के प्रतिनिधियों की समस्याएं और सुझाव भी सुने, जिनपर विचार करने का भरोसा दिलाया।