• Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • Eight Bills Were Passed In The Rajya Sabha In The Third Week Amid Uproar By The Opposition, 24.20 Percent Increase In The Working Of The House

मानसून सत्र:विपक्ष के हंगामे के बीच राज्यसभा में तीसरे हफ्ते आठ बिल पारित हुए, सदन के कामकाज में 24.20 फीसदी की वृद्धि हुई

नई दिल्ली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राज्यसभा के एक अधिकारी ने बताया कि मानसून सत्र के अभी तक तीन हफ्ते में सदन ने कुल 22.60% कामकाज किया है। - Dainik Bhaskar
राज्यसभा के एक अधिकारी ने बताया कि मानसून सत्र के अभी तक तीन हफ्ते में सदन ने कुल 22.60% कामकाज किया है।
  • जासूसी कांड, किसान और महंगाई के मुद्दे पर सदन में लगातार विराेध, हंगामे से 21 घंटे, 37 मिनट बर्बाद हाे चुके हैं

संसद के जारी मानसून सत्र के तीसरे हफ्ते विपक्षी दलाें के हंगामे के बीच आठ विधेयक पास किए गए हैं। इससे सदन के कामकाज में वृद्धि हुई। यह दूसरे हफ्ते के 13.70% से बढ़कर 24.20% हाे गया। बीते महीने 19 तारीख काे शुरू हुए सत्र के पहले हफ्ते कामकाज सबसे ज्यादा 32.20% हुआ था। तीसरे हफ्ते में हंगामे की वजह से 21 घंटे, 36 मिनट बर्बाद हुए। यह जानकारी राज्यसभा शाेध विभाग के आंकड़ाें से मिली है।

राज्यसभा के एक अधिकारी ने बताया कि मानसून सत्र के अभी तक तीन हफ्ते में सदन ने कुल 22.60% कामकाज किया है। जो आठ विधेयक पास हुए उनमें सदन ने तीन घंटे और 25 मिनट का समय लिया। मानसून सत्र की शुरुआत से कार्यवाही राेज बाधित हाे रही है। कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी जासूसी कांड, तीन नए कृषि कानून, किसानाें की मांगों और महंगाई के मुद्दों पर हंगामा कर रहे हैं। वे इन मसलों पर चर्चा कराने की मांग कर रहे हैं। जबकि सरकार का कहना है कि विपक्ष संसद नहीं चलने देना चाहती।

संसद में 17 दलों के 68 सदस्यों ने विधेयकों पर चर्चा में हिस्सा लिया
आंकड़ों के मुताबिक राज्यसभा में पिछले हफ्ते 17 राजनीतिक दलों के 68 संसद सदस्यों ने विधेयकों को पारित करने से पहले चर्चा में हिस्सा लिया। नामित और इन 17 दलाें के कुल सदस्य राज्यसभा के माैजूदा कुल सदस्याें का 87% हैं। जबकि विभिन्न मुद्दों पर हंगामा कर रहे तृणमूल कांग्रेस और शिरोमणि अकाली दल के सदस्यों की संख्या राज्यसभा में छह फीसदी से कम है।

आंकड़ाें में कार्यवाही

  • तीसरे हफ्ते राज्यसभा की कार्रवाई के लिए निर्धारित कुल 28.30 घंटे में प्रश्नकाल में 1.41 घंटे काम हुआ।
  • सत्र शुरू होने से अब तक कुल 78.30 घंटे के समय में 60.28 घंटे हंगामे से बर्बाद।
  • तीन हफ्ते में कुल 17.44 घंटे काम हुआ। 4.49 घंटे सरकारी विधेयकों और 3.19 घंटे प्रश्नकाल चला।
  • काेराेना से जुड़े मुद्दाें पर 4.37 घंटे तक कुल चर्चा हुई।
  • पहले दो हफ्तों में राज्यसभा की नौ बैठकों के दौरान केवल 1.38 घंटे ही प्रश्नकाल चला था।
खबरें और भी हैं...