दिल्ली में पूरे परिवार की जिंदा जलकर मौत:तीन झुग्गियों में लगी आग; सिलेंडर ब्लास्ट से 6 लोगों की झुलसकर मौत, मरने वालों में दंपती और उनके चार बच्चे शामिल

नई दिल्ली6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मौके पर पहुंची कापसहेडा थाने की पुलिस मामला दर्ज कर जांच पड़ताल में जुट गई है। - Dainik Bhaskar
मौके पर पहुंची कापसहेडा थाने की पुलिस मामला दर्ज कर जांच पड़ताल में जुट गई है।

साउथ वेस्ट डिस्ट्रिक के कापसहेड़ा इलाके में बुधवार देर रात तीन झुग्गियों में आग लगने के बाद सिलेंडर ब्लास्ट से तीन महीने के बच्चे समेत एक ही परिवार के 6 लोगों की जिंदा जलकर मौत हो गई। मरने वालों में दपंती और उनके चार बच्चे शामिल हैं। हादसे के दौरान आग की लपटों में फंसे पांच अन्य लोग समय रहते बाहर निकल गए जिससे उनकी जान बच गई। मामले की सूचना मिलने पर पुलिस ने झुलसी हालत में छह शव को पोस्टमार्टम के लिए नजदीकी अस्पताल भेजा है। साथ ही मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है।

DCP इंगित प्रताप सिंह ने बताया कि देर रात 12:30 बजे आग लगने के संबंध में उन्हें दो सूचनाएं मिली। पहली में बताया गया वाल्मिकी कॉलोनी ब्रिजवासन नजदीक फ्लाईओवर घर में आग से सिलेंडर फट गया है, लोग फंसे हुए हैं। दूसरी PCR कॉल में कहा गया कि पालम विहार के ब्लॉक के पीछे ब्रिजवासन के पास सिलेंडर फैक्टरी में आग लग गई है।

खेत में बनी हुई थी झुग्गियां

पुलिस मौके पर पहुंची तो पता चला कि मातु राम के खेत में तीन झुग्गियां बनी हुई थीं जिनमें खेतों में काम करने वाला परिवार रहता था। आग और सिलेंडर फटने से खेत में काम कर वाले लेबर इस घटना की चपेट में आ गए। मृत परिवार के लोग एक ही झुग्गी में थे जिन्हें बाहर निकलने का भी वक्त नहीं मिला। सभी जलकर मर गए। एक झुग्गी में कमलेश सिंह का परिवार रहता था। दूसरी झुग्गी में देवी सिंह रहता है, जो फिलहाल अपने गांव में है। अभी इस झुग्गी में कोई नहीं था। जबकि तीसरी झुग्गी में नथनी महतो परिवार के साथ रहते हैं। उनका परिवार समय रहते घर से बाहर निकल आया था। पुलिस ने इस घटना की बाबत IPC की धारा 286, 436 और 304 ए की धारा के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

पुलिस के मुताबिक मरने वालों की पहचान कमलेश सिंह (37), उनकी पत्नी बिंदनी (35), बेटी अंजली (16), बेटा गोलू कुमार (8) व तीन महीने के बेटे के तौर पर हुई। मृत परिवार मूलरूप से मुजफ्फरपुर बिहार के रहने वाले थे। वे यहां 13 साल से रह रहे थे।

ट्यूबवेल चलाकर लोगों ने बुझाई आग

पुलिस को आग की सूचना देने वाली महिला ज्योति ने बताया उनका भाई दीपक रात को छत पर टहल रहा था। तभी उसने खेत में झुग्गियों में आग की लपटों को उठते देखा। फौरन उसने नीचे आकर शोर मचा लोगों को इकट्‌ठा किया। इस बीच उसने (ज्योति) ने पुलिस को घटना की सूचना दे दी। इसके बाद मौके पर लोग जुट गए, तभी झुग्गी में सिलेंडर ब्लास्ट हो गया। इसके बाद खेत में लगे ट्यूबवेल को चालू किया गया और आग पर काबू पाया गया। इस बीच पुलिस और दमकल कर्मी मौके पर पहुंच गए।

उधर, मौके पर पहुंची कापसहेडा थाने की पुलिस मामला दर्ज कर जांच पड़ताल में जुट गई है। आग किन परिस्थियों में लगी इसका पता लगाया जा रहा है। वहीं, घटना को लेकर दमकल विभाग के निदेशक अतुल गर्ग ने बताया एक झुग्गी में LPG सिलेंडर ब्लास्ट हुआ था।