पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • Group Of Ministers Will Consider Bringing Petrol And Diesel Under The Ambit Of GST, Meeting In Lucknow On 17th

एक देश-एक दाम की तैयारी:पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने पर विचार करेगा मंत्री समूह, 17 को लखनऊ में बैठक

नई दिल्ली9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पेट्रोलियम पदार्थों के तेजी से बढ़ते दामों के बीच राहत की खबर है। पेट्रोल, डीजल, प्राकृतिक गैस और एविएशन टर्बाइन फ्यूल (एटीएफ) जैसे पेट्रोलियम पदार्थ जीएसटी के दायरे में लाए जा सकते हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता वाला जीएसटी मंत्री समूह इसी सप्ताह शुक्रवार को पेट्रोलियम पदार्थों के एक देश-एक दाम के प्रस्ताव पर चर्चा करेगा। इसी दिन जीएसटी काउंसिल की 45वीं बैठक भी है।

कोरोना महामारी के बाद काउंसिल की यह पहली फिजिकल बैठक है। मंत्री समूह ने केरल हाई कोर्ट के आग्रह के बाद यह प्रस्ताव तैयार किया है। यदि मंत्री समूह में सहमति बनती है तो वह इस प्रस्ताव को जीएसटी काउंसिल को सौंपेगा। फिर काउंसिल तय करेगा कि इस प्रस्ताव पर कब विचार किया जाए।

जीएसटी के बाद सेस संभव, हालांकि फायदा ही होगा
पेट्रोल-डीजल जीएसटी के दायरे में आए तो सेस लगना तय है। हालांकि, इसके बाद भी प्रभावी दर वर्तमान टैक्स से कम रहने का अनुमान है। इसके अलावा, इससे पेट्रोल-डीजल पर इनपुट टैक्स क्रेडिट भी मिलने लगेगा।

खबरें और भी हैं...