कोर्ट की नाराजगी:हाईकोर्ट का आदेश- जब्त रेमडेसिविर मरीजों के लिए जारी करे दिल्ली सरकार

नई दिल्ली6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ऑक्सीजन सप्लाई में भेदभाव पर केंद्र सरकार से जवाब मांगा। - Dainik Bhaskar
ऑक्सीजन सप्लाई में भेदभाव पर केंद्र सरकार से जवाब मांगा।
  • रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन सिलेंडर मरीजों के अटेंडेंट से जब्त न करने के आदेश

देश के लिए एक मई ‘उम्मीद का दिन’ है। इस दिन 18 से 45 साल तक के लाेगाें काे काेराेना टीका लगाने की शुरुआत हो रही है। केंद्र सरकार ने इसे कोरोना टीकाकरण का तीसरा चरण घाेषित किया है। लेकिन महाराष्ट्र, झारखंड सहित कई राज्यों ने इस कार्यक्रम काे आगे बढ़ाने की बात कही है। कारण टीके की कम उपलब्धता को बताया गया है।

तमाम राज्याें में ऑनलाइन पंजीकरण के बावजूद लाभार्थियों को टीकाकरण की तारीखें नहीं मिल सकी हैं। वहीं, केंद्र का दावा है कि सभी राज्याें और केंद्रशासित प्रदेशाें काे अभी तक 16.16 कराेड़ वैक्सीन डाेज मुफ्त में उपलब्ध कराए हैं। अगले तीन दिनाें में 20 लाख डाेज और मुफ्त उपलब्ध करा दिए जाएंगे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार काे बताया कि राज्याें के पास अभी वैक्सीन की 1,06,08,207 डाेज उपलब्ध हैं।
एक दाम करने की याचिका ठुकराई
बाॅम्बे हाई काेर्ट ने गुरुवार काे उस याचिका पर सुनवाई करने से इनकार कर दिया, जिसमें काेराेना वैक्सीन के दामाें काे एक समान करने का निर्देश देने की मांग थी। बेंच ने याचिकाकर्ता काे सुप्रीम काेर्ट जाने काे कहा, जाे इस मामले में स्वत:संज्ञान लेकर सुनवाई कर रही है।
अब भारत बाॅयाेटेक ने टीके के दाम घटाए
देश में सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया के बाद भारत बाॅयोटेक ने अपनी ‘कोवैक्‍सीन’ की राज्यों के लिए कीमत में कटौती की है। काेवैक्सीन अब 600 के बजाय 400 रुपए प्रति डोज मिलेगी। भारत बाॅयाेटेक ने गुरुवार काे यह जानकारी दी।
पीएम आज कैबिनेट बैठक में करेंगे समीक्षा

प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी ने देश में जारी कोरोना महामारी व उससे पैदा हुए विकट हालात पर विचार के लिए शुक्रवार को केंद्रीय कैबिनेट की बैठक बुलाई है। यह बैठक डिजिटल माध्यम से होगी। सूत्रों के अनुसार बैठक में कोरोना की स्थिति और उससे निपटने के लिए किए जा रहे उपायों पर चर्चा होगी। इसमें कुछ अहम फैसले हो सकते हैं। दिल्ली के दाे अस्पतालाें में ऑक्सीजन का संकट, मरीजाें की जान सांसत में गाजियाबद में गुरुद्वारे से मिली मुफ्त ऑक्सीजन लगाए कोरोना मरीज।
कई राज्याें ने टीकाकरण अभियान को आगे बढ़ाया
दिल्ली हाईकोर्ट ने जब्त रेमडेसिविर दवा का कोरोना मरीजों के लिए इस्तेमाल न होने पर गुरुवार को नाराजगी दिखाई। हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार के राजस्व विभाग को आदेश दिया कि वह जब्त रेमडेसिविर मरीजों के इस्तेमाल के लिए जल्द जारी करे। ये रेमडेसिविर पुलिस ने जमाखोरों और कालाबाजारी करने वाले लोगों से जब्त किए थे।

कोर्ट ने इसी तरह का आदेश जब्त मेडिकल ऑक्सीजन सिलेंडरों को लेकर भी दिए। कोर्ट ने कहा कि इनका इस्तेमाल भी मरीजों के लिए किया जाए। जस्टिस विपिन सांघी और रेखा पल्ली की बेंच रेमडेसिविर और ऑक्सीजन सिलेंडर से जुड़ी याचिकाओं पर एकसाथ सुनवाई कर रही थी। बेंच ने कहा, ‘बरामद दवा किसी की संपत्ति का केस नहीं है।’

कोर्ट ने स्पष्ट किया कि रेमडेसिविर और ऑक्सीजन सिलेंडर मरीजों के अटेंडेंट से न जब्त किए जाएं। उधर, हाईकोर्ट में दिल्ली सरकार की ओर से वरिष्ठ वकील राहुल मेहरा ने कहा कि केंद्र ऑक्सीजन की सप्लाई में भेदभाव कर रहा है। अन्य राज्यों को मांग से ज्यादा ऑक्सीजन सिलेंडर दिया जा रहा है, जबकि दिल्ली को कम। इस पर कोर्ट ने केंद्र सरकार से जवाब मांगाा।
याचिका पर सुनवाई के दौरान बेंच ने कहा- बरामद दवा किसी की संपत्ति का केस नहीं
देश के लिए एक मई ‘उम्मीद का दिन’
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के दाे अस्पतालाें ने गुरुवार काे ऑक्सीजन की कमी का आपात मैसेज किया। काेराेना मरीजाें का इलाज कर रहे विमहांस अस्पताल ने कहा कि उसके पास सिर्फ दो घंटे का ऑक्सीजन बचा है। अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डाै उबैद हामिद ने कहा, ‘हम ऑक्सजीन आने का इंतजार कर रहे हैं। अस्पताल में 210 मरीज भर्ती हैं। इनमें 170 ऑक्सीजन पर हैं।’ वहीं राेजवुड अस्पताल के मालिक जसबीर डबास ने कहा, ‘केवल डेढ़ घंटे का ऑक्सीजन बचा है।’