दक्षिणी जोन में वायु प्रदूषण पर कार्रवाई:आईआईटी दिल्ली, सफदरजंग अस्पताल का हुआ चालान

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दक्षिणी जोन का भवन निर्माण विभाग व विध्वंस गतिविधियों के फैलने वाले धूल प्रदूषण के खिलाफ विशेष अभियान चला रहा है। दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति द्वारा जारी किये गये दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है। भवन विभाग ने पिछले एक सप्ताह में 72 मामलों में लगभग 65 लाख रुपए का चालान किया है। एनबीसीसी द्वारा संचालित किये जा रहे विभिन्न निर्माणाधीन परियोजनाओं पर दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति द्वारा जारी किये गये दिशा-निर्देशों का उल्लंघन पाया गया तथा उनके खिलाफ 5 लाख रुपए का चालान किया गया।

साथ ही आईआईटी दिल्ली द्वारा भी नियमों का उल्लंघन किया गया और उन पर 20 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया। सफदरजंग अस्पताल के स्पोटर्स ईंजरी सेन्टर पर भी 5 लाख का जुर्माना लगाया गया। इसी तरह दक्षिणी जोन के भवन विभाग द्वारा पुनर्विकास से संबंधित अन्य बड़ी परियोजनाओं में भी उल्लघंनकर्ताओं के खिलाफ भारी जुर्माना लगाया जा रहा है, विशेष कर उल्लंघन करने वाले निजी ठेकेदार व बिल्डर।

सभी प्रदूषण हॉटस्पॉट पर लगातार निगरानी की जा रही है
दक्षिणी जोन के भवन विभाग द्वारा लगातार सभी प्रदूषण हॉटस्पॉट पर लगातार निगरानी कि जा रही है, ताकि धूल प्रदूषण को नियंत्रित किया जा सके। साथ ही भवन विभाग के अधिकारियों द्वारा दक्षिणी जोन के निर्माणाधीन स्थलों की लगातार कड़ी निगरानी की जा रही है। साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जा रहा है बिल्ड़र/मालिकों/ठेकेदारों द्वारा निर्माण कार्य करते हुए प्रदूषण को कम करने के लिये उचित उपाय अपनाए जायें। इसके अतिरिक्त विभाग द्वारा निरीक्षण के दौरान नागरिकों को धूल एवं प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिये विभिन्न उपायों के बारे में जागरूक किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...