पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • Immediately After Receiving The Announcement Of The Lockdown, The Migrant Workers Started Gathering At The Bus Stations To Return To Their Places Of Origin.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राजधानी में पलायन 2.0:लॉकडाउन की घोषणा की सूचना मिलते ही प्रवासी श्रमिक अपने मूल स्थानों पर लौटने के लिए बस स्टेशनों पर जुटने लगे

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शाम होते-होते  राजधानी की सड़कों पर दिखने लगी जाम का नजारा - Dainik Bhaskar
शाम होते-होते राजधानी की सड़कों पर दिखने लगी जाम का नजारा

दिल्ली में तेजी से फैल रही कोरोना का संक्रमण लगातार भयावह स्थिति पैदा कर रही है। दिल्ली में कोरोना के मरीजों के कारण सभी अस्पतालों में आईसीयू बेड फूल हाे चुकी है। कोरोना के गंभीर मरीज को लेकर परिजन इस अस्पताल से लेकर उस अस्पताल में हजारों मरीज आईसीयू बेड के लिए चक्कर काटते रहे।

पर एप और अस्पताल में आईसीयू बेड नहीं होने के कारण अस्पताल मरीज को भर्ती करने के बजाय किसी और अस्पताल में मरीज को ले जाने की सलाह दे रहे है। जीटीवी, एलएनजेपी सहित कई अस्पतालों में मरीजों को भर्ती नहीं करने पर बरामदे व अस्पताल परिसर में बैठने की बातें आ रहीं हैं।

दिल्ली में 6 दिन की लॉकडाउन की घोषणा होते हुए बाजारों और सड़कों पर जनता की भीड़ उमड़ पड़ी, पर इस दौरान कहीं भी सोशल डिस्टेंसिंग नहीं दिखाई दी। लॉक डाउन की घोषणा होते ही दिल्ली में लोग शराब, किराना, फल की दुकानों के आगे लाइन लगा दी। लोग रात 10बजे के पहले ही शराब और राशन, फल मार्केट सहित सभी जरूरी समान घर में भर लेना चाहते थे। पर इस दौरान सामान खरीदने की जल्दबाजी में लोग सोशल डिस्टेंसिंग भूल गए। एक दूसरे से दूरी रखने के बजाय एक दूसरे को टच करते दिखे।

प्रवासी मजदूरों लौटने लगे अपने घर

मुख्यमंत्री केजरीवाल के द्वारा दिल्ली में लॉकडाउन की घोषणा के बाद दिल्ली से मजदूरों का पलायन तेजी से शुरू हो गया है और दिल्ली के तमाम बस स्टैंडों पर मजदूरों की भीड़ देखी जा रही है। दिल्ली से हज़ारों मज़दूर अपने घर लौटने के लिए पूर्वी दिल्ली के आनंद विहार बस टर्मिनल और गाजियाबाद के कौशांबी बस डिपो पर लोग सिर पर सामान रखे और महिलाएं गोद में बच्चे लिए नजर आ रही हैं।

मजदूर बच्चों को गोद, कंधे पर और समान सर पर लिए आनंद विहार बस टर्मिनल और कौशांबी बस डिपो के बीच लोग दौड़ते हुए नजर आ रहे हैं सभी मजदूरों में होड़ है कि जल्दी से अपने गांवों को वापस पहुंच जाएं।

पुलिस को किया गया अलर्ट

एक सप्ताह तक लगे कर्फ्यू के बाद प्रवासी मजदूरों का पलायन रोकने के लिए पुलिस ने रणनीति बनाई है। सभी जिले के डीसीपी को निर्देश दिए गए हैं कि वह अपने अपने एरिया में मजदूरों को समझा-बुझाकर दिल्ली में रोकें। स्पेशल ब्रांच द्वारा दिए गए इनपुट के बाद दिल्ली पुलिस को आशंका है कि पिछली बार की तरह इस बार भी मजदूर पलायन के लिए बस अड्डे एवं रेलवे स्टेशन पर एकत्रित हो सकते हैं।

साल 2020 में लॉक डाउन की परेशानी देख चुके मजदूर दिल्ली छोड़कर अपने गांव पहुंचना चाहते हैं। स्पेशल ब्रांच की तरफ से सभी 15 जिला की पुलिस को इसे लेकर अलर्ट किया गया है। बताया गया है कि बड़ी संख्या में मजदूर कभी भी पलायन कर सकते हैं।

राजनीतिक पार्टियां भी लाभ पाने के लिए मजदूरों को पलायन में मदद कर सकती हैं। ऐसा होने पर रेलवे स्टेशन या बस अड्डे के पास बड़ी संख्या में मजदूर एकत्रित हो सकते हैं। पीसीआर, लोकल पुलिस के अलावा ट्रैफिक पुलिस को भी अलर्ट किया गया है कि अगर कहीं ज्यादा मजदूरों को इकट्ठा जाते हुए देखें तो तुरंत इसकी जानकारी पुलिस को दें।

स्टेशनों पर प्लेटफार्म टिकट की बिक्री बंद

कोरोना संक्रमण के मद्देनजर भीड़ को नियंत्रित रखने के लिए दिल्ली के सभी रेलवे स्टेशनों पर प्लेटफार्म टिकट की ब्रिक्री सोमवार शाम से बंद कर दी गई है। उत्तर रेलवे दिल्ली मंडल के रेल प्रबंधक एससी जैन ने आज ट्वीट कर इसकी जानकारी जनता को दी है।

बताया जा रहा है कि रेलवे अधिकारियों ने दिल्ली में तेजी से बढ़ती कोरोना संक्रमण के मामलों को ध्यान में रखकर यह कदम उठाया है, जिससे सोशल डिस्टेंसिंग के नियम बनाए रखने में मदद मिल सके। रेलवे अधिकारियों के मुताबिक स्टेशन परिसर मेंं भीड़ भी बढ़ रही है। इसके मद्देनजर नई दिल्ली, पुरानी दिल्ली, दिल्ली सराय रोहिल्ला, हजरत निजामुद्दीन, आनंद विहार समेत सभी स्टेशनों पर प्लेटफार्म टिकट की ब्रिक्री बंद कर दी गई है।

सीएम की अपील-दिल्ली छोड़कर न जाएं

आईएसबीटी पर भारी भीड़ पहुंचने लगी। एक बार फिर मजदूरों में अफरा-तफरी जैसा माहौल दिखा। मजदूरों के घर की ओर वापस लौटने को देखते हुए सीएम अरविंद केजरीवाल ने उनके दिल्ली में ही रुकने की अपील की। उन्होंने प्रवासी मजदूरों से कहा, ‘आने जाने में इतना समय खराब हो जाएगा। सरकार पूरी तरह आपके साथ है।

यह छोटा लॉकडाउन है और छोटा ही रहेगा। शायद इसे बढ़ाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आप लोग दिल्ली छोडक़र मत जाइएगा। यह निर्णय हमने बहुत मजबूरी में लिया है। इन 6 दिनों के लॉकडाउन में हम दिल्ली में बड़े स्तर पर बेड की व्यवस्था करेंगे। केंद्र सरकार हमारी मदद कर रही है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें