• Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • In Railway, Brother in law Was Given The Pretext Of Being A TTE, Then Forgery, Both The Accused Arrested

पुलिस की कार्रवाई:रेलवे में जीजाजी को टीटीई होने का दिया झांसा, फिर की जालसाजी, दोनों आरोपी अरेस्ट

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दिल्ली पुलिस की मेट्रो यूनिट ने दो जालसाजों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान लोनी देहात गाजियाबाद निवासी चंदन कुमार (27) व सीतामढ़ी बिहार निवासी बलराम कुमार महतो (28) के तौर पर हुई। इनके खिलाफ धोखाधड़ी का एक मुकदमा शास्त्री पार्क मेट्रो थाने में दर्ज हुआ था। पुलिस के मुताबिक कौशांबी यूपी के रहने वाले शशि कांत (35) जयपुर राजस्थान की एक कंपनी में सीनियर एसोसिएट के तौर पर काम करते हैं।

वह 12 सितंबर को निजी काम से दिल्ली आए थे। काम पूरा होने के बाद उन्होंने बदरपुर मेट्रो स्टेशन से आनंद विहार मेट्रो स्टेशन जाने के लिए ट्रेन ली। मंडी हाउस मेट्रो स्टेशन पर वह उतर गए क्योंकि उन्हें आनंद विहार के लिए मेट्रो लेनी थी। तभी उन्हें दो अनजान लोग मिले। वे बिहारी भाषा में बात कर रहे थे। बातचीत में दोनों ने बताया उनके जीजा जी रेलवे में टीटीई हैं। उन्हें भी इलाहबाद जाना है।

वे ट्रेन में सीट दिलवा देगें। पीड़ित उनके झांसे में आ गया। दोनों उसे मौजपुर मेट्रो स्टेशन ले गए। मेट्रो स्टेशन से बाहर निकलने पर उन्हें एक शख्स मिला। दोनों ने उस शख्स को अपना जीजा जी बताया। वे उसे ऑफिस ले गए।

दो पीड़ित को एक ऑफिस में ले गए जबकि उसके बैग के साथ तीसरा मेट्रो स्टेशन पर ही रहा। जालसाज ने पीड़ित का मोबाइल भी ले लिया था, झांसा वायरस चैक करने का दिया। मांगने पर पीड़ित ने अपना एटीएम नंबर भी उसे बता दिया। जब पीड़ित वापस मौजपुर मेट्रो स्टेशन पर पहुंचा तो वह जालसाज बैग समेत गायब मिला।

खबरें और भी हैं...