5 साल में 10 गुना बढ़ी यूनिकॉर्न स्टार्टअप की संख्या:भारत में अमेरिका और चीन के बाद सबसे अधिक 100 यूनिकॉर्न स्टार्टअप, एमकैप 17.3 लाख करोड़

नई दिल्ली10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एक अरब डॉलर (7.3 हजार करोड़ रुपए) से अधिक मार्केट कैप वाली 336 लिस्टेड कंपनियों की तुलना में भारत में 100 यूनिकॉर्न हैं, जिनका संयुक्त मार्केट कैप 17.3 लाख करोड़ है। (सिंबॉलिक फोटो)  - Dainik Bhaskar
एक अरब डॉलर (7.3 हजार करोड़ रुपए) से अधिक मार्केट कैप वाली 336 लिस्टेड कंपनियों की तुलना में भारत में 100 यूनिकॉर्न हैं, जिनका संयुक्त मार्केट कैप 17.3 लाख करोड़ है। (सिंबॉलिक फोटो) 
  • देश में नई शुरू होने वाली कंपनियों में स्टार्टअप की हिस्सेदारी 6-7 फीसदी

पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा यूनिकॉर्न स्टार्टअप की लिस्ट में भारत अमेरिका, चीन के बाद तीसरे नंबर पर पहुंच गया है। ग्लोबल वैल्थ मैनेजमेंट फर्म क्रेडिट सुइस की रिपोर्ट से यह जानकारी सामने आई है। यूनिकॉर्न ऐसी स्टार्टअप को कहते हैं, जिनका वैल्यूएशन एक अरब डॉलर से अधिक होता है। एक अरब डॉलर (7.3 हजार करोड़ रुपए) से अधिक के मार्केट कैप वाली 336 लिस्टेड कंपनियों की तुलना में भारत में 100 यूनिकॉर्न हैं, जिनका संयुक्त मार्केट कैप 17.3 लाख करोड़ रुपए है।

रिपोर्ट के मुताबिक भारत में नई शुरू होने वाली कंपनियों में स्टार्ट-अप 6-7 फीसदी हैं। यह अनुपात पिछले एक दशक में बढ़ा है। क्रेडिट सुइस में इक्विटी स्ट्रेटिजी, एशिया पेसिफिक एंड इंडिया नीलकांत मिश्रा कहते हैं, भारत में 100 यूनिकॉर्न अलग-अलग तरह की इंडस्ट्रीज में हैं, जिनमें टेक्नोलॉजी और उससे जुड़े सेक्टर, फार्मास्युटिकल, बायोटेक, कंज्यूमर गुड्स शामिल हैं।

इनमें से अधिकांश कंपनियां 2005 के बाद गठित हुई हैं। यूनिकॉर्न के लिहाज से बेंगलुरू सबसे बड़ा शहर है। इसके बाद दिल्ली और मुंबई का नंबर आता है। फिनटेक कंपनियों ने 73 हजार करोड़ रुपए की पूंजी आकर्षित की है और अब वे भारत के स्टार्टअप ईकोसिस्टम में शीर्ष पर हैं। फिनटेक कंपनियों में भी डिजिटल पेमेंट कंपनियों की बहुतायत है। पिछले पांच साल में इनकी संख्या 10 गुना बढ़ गई है।

सबसे अधिक यूनिकॉर्न फिनटेक सेक्टर में सक्रिय

खबरें और भी हैं...