पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • Members Of NITI Aayog Said If New Agricultural Laws Are Not Implemented, The Income Of Farmers Will Not Double

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

किसानों पर बोले:नीति आयोग के सदस्य बोले नए कृषि कानून लागू न हुए तो किसानों की आय दोगुनी नहीं होगी

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • केंद्र सरकार किसानों से नए कानूनों के हर पहलू पर बातचीत के लिए तैयार है

नीति आयोग के सदस्य रमेश चंद ने नए कृषि कानूनों को तुरंत लागू करने की आवश्यकता पर जोर दिया है। उनका कहना है कि अगर ये कानून लागू नहीं हुए तो 2022 तक देश के किसानों की आमदनी दोगुनी नहीं हो सकेगी। उन्होंने कहा, ‘कृषि कानूनों पर बने गतिरोध को तोड़ने का रास्ता सिर्फ ‘एक हाथ दे-दूजे हाथ ले’ के भाव से ही निकलेगा।

अगर हम ये सोचेंगे कि अड़कर अपनी मांगें मनवा लेंगे तो कोई रास्ता नहीं निकलने वाला। सरकार ने किसान नेताओं को खुला विकल्प दिया है। सरकार नए कानूनों के हर पहलू पर बात और विचार करने के लिए तैयार है। कानूनों को एक-डेढ़ साल के लिए रोकने को भी तैयार है। लिहाजा, किसान नेताओं को इस प्रस्ताव पर विचार करना चाहिए। जो प्रावधान उन्हें अपने हितों के खिलाफ लगते हैं, उन पर सरकार का ध्यान दिलाना चाहिए। उनमें बदलाव की मांग करना चाहिए।’ गौरतलब है कि केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग पर पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान नवंबर से प्रदर्शन कर रहे हैं।

बड़ी संख्या में किसान दिल्ली की सीमाओं पर डेरा डाले हुए हैं। उनकी सरकार के साथ 11 दौर की बातचीत हो चुकी है। अब तक इसका कोई नतीजा नहीं निकला है क्योंकि सरकार कानूनों को रद्द करने के लिए तैयार नहीं है। प्रदर्शनकारी किसानों की एक अन्य मांग न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को अनिवार्य करने की है। इस पर सहमति नहीं बन सकी है।

प्रधानमंत्री ने कहा- कृषि क्षेत्र में आधुनिकीकरण समय की मांग
‘मन की बात’ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बार फिर कृषि कानूनों पर बात की है। उन्होंने कहा, ‘भारत के कृषि क्षेत्र में आधुनिकीकरण आज समय की मांग है। इसमें पहले ही देर हो चुकी है। हम काफी-कुछ गंवा चुके हैं। अब और देर नहीं की जा सकती। कृषि क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर पैदा करने और किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए नए विकल्प अपनाना जरूरी है। खेती के पारंपरिक तौर-तरीकों के साथ नवाचार भी आवश्यक हैं।’ प्रधानमंत्री इससे पहले भी कई मौकों पर कृषि कानूनों के पक्ष में बोल चुके हैं। उन्होंने एक बार यहां तक कहा था कि नए ‘कृषि कानूनों पर मुझसे किसान नेता कभी भी बात कर सकते हैं। मेरे दरवाजे हमेशा खुले हैं।’

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

    और पढ़ें