• Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • Monsoon Rains In The Country From 'low' To 'normal', The Meteorological Department Estimates This Month There Will Be Surplus Rain

मानसून की V शेप रिकवरी:देश में मानसूनी बारिश ‘कम’ से ‘सामान्य’ की ओर, मौसम विभाग का अनुमान- इस महीने सरप्लस हो जाएगी बारिश

नई दिल्ली3 महीने पहलेलेखक: अनिरुद्ध शर्मा
  • कॉपी लिंक
कर्नाटक के जोग जलप्रपात में पानी बढ़ने लगा है। नदियों का जलस्तर भी बढ़ने से अगस्त तक यह पानी से लबालब रहता है। - Dainik Bhaskar
कर्नाटक के जोग जलप्रपात में पानी बढ़ने लगा है। नदियों का जलस्तर भी बढ़ने से अगस्त तक यह पानी से लबालब रहता है।

देश के सभी प्रमुख राज्यों में अब 24 घंटे में कम से कम एक बार बारिश का क्रम शुरू हो गया है। मानसून का तीसरा कम दबाव वाला क्षेत्र बंगाल की खाड़ी में विकसित हो रहा है। इसके असर से बुधवार से शनिवार तक उत्तर भारत में भारी बारिश के आसार हैं। देश में 27 जुलाई तक कुल 408.5 मिमी मानसूनी बारिश रिकॉर्ड की गई, जबकि आमतौर पर 27 जुलाई तक 413.8 मिमी हो जाती है। यानी, अब तक मानसून की सिर्फ 1% बारिश कम हुई है।

चूंकि, अगले 4 दिन लगातार बारिश की संभावना है, इसलिए मौसम विभाग का कहना है कि मानसूनी बारिश का इस महीने का कोटा 31 जुलाई तक सरप्लस हो जाएगा। दरअसल, मानसून की शुरुआती बारिश तो बहुत अच्छी हुई थी, लेकिन फिर दो हफ्ते तक मानसूनी बादल मध्य और उत्तर भारत में अटक गए थे। इस वजह से बारिश कम हो गई। इसकी वजह से पहले हुई अच्छी बारिश का फायदा भी नहीं मिला। लेकिन, अब मानसून रिकवर कर चुका है। आगे भी मानसून के कमजोर होने की अभी तक कोई आशंका नहीं नजर आ रही है।

बारिश की रिकवरी को आंकड़ों में समझिए

  • पिछले साल जुलाई में 10% कम बारिश हुई थी, जबकि मानसून 8 जुलाई की तुलना में 26 जून को ही पूरे देश में छा गया था। इस साल मानसून 5 दिन की देरी से 13 जुलाई को पूरे देश में छाया। बावजूद इसके जुलाई की बारिश का कोटा सरप्लस होने जा रहा है।
  • अब तक मानसून की 405.5 मिमी बारिश हुई, यह सामान्य से सिर्फ 1% कम; जुलाई मध्य में बारिश 8% तक कम हुई थी, जिसकी कमी 15 दिन में पूरी हो गई।