स्थायी समिति में छाया मुद्दा:दक्षिण दिल्ली निगम के 450 से अधिक शिक्षक हुए बेरोजगार

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दक्षिण दिल्ली नगर निगम स्थायी समिति की बैठक में 450 से अधिक शिक्षकों को कोरोना काल से बेरोजगार करने का मुद्दा छाया रहा। सभी शिक्षक वर्ष 2001 से निगम के विभिन्न प्राइमारी स्कूलों में पढ़ा रहे थे , लेकिन कोरोना काल में सभी शिक्षकों का कांट्रेक्ट को नहीं बढ़ाया गया। हालत यह है कि शिक्षकों को अपने परिवार का खर्च चलाना मुश्किल हो रहा है।

शिक्षकों के मामले को जोर-शोर से उठाते हुए विपक्ष पार्षदों ने कहा कि वह शिक्षकों की काली दीपावली नहीं मनने देंगे उन्होंने महापौर और समिति अध्यक्ष के आवास पर धरने का ऐलान भी किया है। स्थायी समिति के अध्यक्ष कर्नल बीआर ओबराय की अध्यक्षता में बैठक शुरू होने पर कांग्रेस के पार्षद और स्थायी समिति सदस्य सुरेश कु मार ने कहा कि दक्षिण दिल्ली नगर निगम जब एकीकृत था तो वर्ष 2001 से निगम में शिक्षक कांट्रेक्ट पर रखे गए थे।

खबरें और भी हैं...