पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • New Delhi World Book Fair 2021 Virtual Edition Events Focusing On Importance Of Mother Tongue And Regional Languages In Education System.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विश्व पुस्तक मेला 2021 (वर्चुअल एडिशन) का दूसरा दिन:शिक्षा प्रणाली में मातृभाषा और क्षेत्रीय भाषाओं के महत्व पर चर्चा, ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर हिस्सा ले रहे लोग

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
NDWBF 2021 का विषय राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 है। दिन के दूसरे आयोजन में प्रो. ओम प्रकाश पांडे और डॉ. संजीव राय ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति- 2020 भारतीय ज्ञान परंपरा पर एक सत्र आयोजित किया।  - Dainik Bhaskar
NDWBF 2021 का विषय राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 है। दिन के दूसरे आयोजन में प्रो. ओम प्रकाश पांडे और डॉ. संजीव राय ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति- 2020 भारतीय ज्ञान परंपरा पर एक सत्र आयोजित किया। 

नई दिल्ली विश्व पुस्तक मेला 2021-वर्चुअल एडिशन के दूसरे दिन, शिक्षा प्रणाली में मातृभाषा और क्षेत्रीय भाषाओं के महत्व पर ध्यान केंद्रित करने वाली घटनाओं का बोलबाला दिखा। रविवार को NDWBF के ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर लगभग 15 हजार लोग नजर आए।

इसकी शुरुआत "मातृभाषा की भूमिकाः पढ़ना बच्चों के लिए एक आनंददायक गतिविधि बनाना" पर चर्चा से की गई। प्रेमपाल शर्मा, शिक्षाविद और लेखक, डॉक्टर ऊषा शर्मा शिक्षाविद् एनसीईआरटी, गीतांजलि कुमार शैक्षिक मनोवैज्ञानिक, मृदुल सिंह संस्थापक सचिव, कोशिश स्पेशल स्कूल ने इस पैनल का हिस्सा बने और इस महत्वपूर्ण विषय पर अपने विचार रखे। NDWBF 2021 का विषय राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 है। दिन के दूसरे आयोजन में प्रो. ओम प्रकाश पांडे और डॉ. संजीव राय ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति- 2020 भारतीय ज्ञान परंपरा पर एक सत्र आयोजित किया।

इसके बाद दुनिया की सबसे पुरानी भाषा संस्कृत पर चर्चा की गई और विषय बना "संस्कृतः हमारी सभी भाषाओं की दादी मां।" इस परचिर्चा में वक्ता के रूप में डॉ. रमेश बिजलानी, डॉ. बलदेवानंदसागर, और डॉ. सम्पदानंद मिश्र शामिल हुए।

NICT द्वारा AICB, नई दिल्ली, डॉक्टर जेएल कौल, पद्मश्री अवार्डी और महासचिव के सहयोग से आयोजित एक अन्य सत्र में, AICB ने 'टंग इन मदर टंग एंड पोज़िशन्स एंड स्टूडेंट्स के लिए चुनौतियों' में ब्रेल बुक्स की भूमिका पर बात की। इस कार्यक्रम के दूसरे भाग में, नेत्रहीन छात्रों ने देशभक्ति पर मधुर कविताओं का पाठ किया। अन्य वक्ताओं में देवकी, अभिलाषा, अंकुर, रजनीशराज, अनुराग पाठक, सुशीला नेगी, मंजुला रथ शामिल थीं। सभी प्रतिभागियों को ब्रेल पुस्तकों के साथ उपहार दिया गया था।

शाम को एक विशेष पैनल ने नाटक और रंगमंच
यहां से कहां पर विशेष चर्चा की गई जिसमें सुमन कुमार, सतीश आनंद, रविशंकर तनेजा और मीरा कांत ने भाग लिया जिसमें इनका साथ निभाया डॉक्टर ललित किशोर मंडोरा ने। इसका समापन हिमाचल एकेडमी ऑफ आर्ट कल्चर एंड लैंग्वेजेस द्वारा आयोजित एक विशेष कार्यक्रम से किया गया जिसका विषय था शिमला आज के समसामायिक साहित्य में। NDWBF 2021 वर्चुअल एडिशन का आयोजन नेशनल बुक ट्रस्ट ऑफ इंडिया द्वारा 6 से 9 मार्च के बीच ऑनलाइन माध्यम से किया गया। इसे www.nbtindia.gov.in/ndwbf21 पर देखा जा सकता है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आसपास का वातावरण सुखद बना रहेगा। प्रियजनों के साथ मिल-बैठकर अपने अनुभव साझा करेंगे। कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा बनाने से बेहतर परिणाम हासिल होंगे। नेगेटिव- परंतु इस बात का भी ध...

और पढ़ें