• Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • Officials will now be able to monitor metro stations with mobile, CCTV installed at Red Line stations will be less than IP based

सुविधा / अधिकारी अब मोबाइल से कर पाएंगे मेट्रो स्टेशनों की निगरानी,रेड लाइन के स्टेशनों पर लगे सीसीटीवी आईपी बेस्ड से होंगे लेस

Officials will now be able to monitor metro stations with mobile, CCTV installed at Red Line stations will be less than IP based
X
Officials will now be able to monitor metro stations with mobile, CCTV installed at Red Line stations will be less than IP based

  • पहले चरण में सिर्फ रेड लाइन के रिठाला से लेकर दिलशाद गार्डन तक के सीसीटीवी को अपग्रेड किया जाएगा
  • अब तक यहां एनालॉग सिस्टम वाले सीसीटीवी लगे हैं जिनकी निगरानी स्टेशन से ही की जा सकती है

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

दिल्ली. दिल्ली मेट्रो अपने सिस्टम को अब और भी हाईटेक बनाने की दिशा में काम करने जा रही है। डीएमआरसी व सिक्योरिटी से जुड़े से अधिकारी अब अपने मोबाइल या फिर ऑफिस के कंप्यूटर से ही मेट्रो स्टेशनों की निगरानी कर पाएंगे। पहले चरण के तहत रेड लाइन पर इस तरह की व्यवस्था की जाएगी। इस लाइन के रिठाला से लेकर दिलशाद गार्डन के सीसीटीवी को डिजीटल आईपी बेस्ड सिस्टम से लेस करके उन्हें अपग्रेड किया जाएगा। इसको लेकर डीएमआरसी की ओर से प्लान तैयार कर लिया गया है। अधिकारियों की मानें तो अलग. अलग फेज में सभी लाइनों के सीसीटीवी को अपग्रेड किया जाएगा

अब तक एनालॉग सिस्टम से चलते हैं सीसीटीवी
रेड लाइन दिल्ली मेट्रो की सबसे महत्वपूर्ण लाइन है। दिल्ली में पहली मेट्रो सर्विस इसी लाइन पर शाहदरा से तीस हजारी के बीच शुरू हुई थी। अभी तक इस लाइन पर लगे हुए सीसीटीसी एनालॉग सिस्टम के चलते हैं। इनकी निगरानी के लिए मेट्रो स्टेशन पर ही कंट्रोल रूम बनाए गए हैं।

नए सिस्टम से मोबाइल पर ही कर सकेंगे निगरानी
डीएमआरसी अब एनालॉग सिस्टम वाले सीसीटीवी को डिजीटल आईपी बेस्ड में अपग्रेड करेगी। इस सिस्टम के तहत अगर सीसीटीवी की एक आईपी आईडी होगी। उस आईडी को मोबाइल व कंप्यूटर पर डालने के बाद सीसीटीवी की पिक्चर मोबाइल व कंप्यूटर पर दिखने लगेगी। ऐसे में हर स्टेशन पर कंट्रोल रूम बनाने की जरूरत नहीं होगी।
प्रोजेक्ट को पूरा होने में लगेंगे 2 साल
लॉकडाउन की वजह से फिलहाल इस प्रोटेक्ट को शुरू होने में समय लगेगा। इस प्रोजेक्ट पर करीब 9 करोड़ रुपए की लागत आएगी। अगर सब कुछ रहा तो जुलाई में इस प्रोजेक्ट पर काम भी शुरू हो सकता है। डीएमआरसी के एक डॉक्युमेंट के अनुसार काम शुरू होने के बाद से 2 साल तक के भीतर प्रोजेक्ट को पूरा करने का टारगेट रखा गया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना