पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एमआईएस-सी का कहर:दिल्ली-एनसीआर में 177 बच्चों में पृष्टि, दिल्ली में अकेले 109 बच्चे

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना के बाद दिल्ली एनसीआर के बच्चों में मल्टी-सिस्टम इंफ्लैमेटरी सिंड्रोम (एमआईएस-सी) नाम की बीमारी कहर बरपा रही है। - Dainik Bhaskar
कोरोना के बाद दिल्ली एनसीआर के बच्चों में मल्टी-सिस्टम इंफ्लैमेटरी सिंड्रोम (एमआईएस-सी) नाम की बीमारी कहर बरपा रही है।
  • 68 अन्य गुड़गांव और फरीदाबाद में मिले

कोरोना के बाद दिल्ली एनसीआर के बच्चों में मल्टी-सिस्टम इंफ्लैमेटरी सिंड्रोम (एमआईएस-सी) नाम की बीमारी कहर बरपा रही है। अभी तक दिल्ली एनसीआर में 6-15साल के उम्र के 177 बच्चों में बीमारी की पृष्टि हुई है जिसमें से 109 बच्चे अकेले दिल्ली, 68 अन्य केस गुड़गांव और फरीदाबाद में मिले हैं।

एक्सपर्ट का कहना है कि कोरोना वायरस से उबर रहे बच्चों में एमआईएस-सी के मामलों में तेजी से वृद्धि देखी जा रही है। इंडियन एकेडमी ऑफ पेडियाट्रिक्स इंटेंसिव केयर चैप्टर के डेटा के अनुसार कोरोना की पहली लहर में एमआईएस-सी के दो हजार से ज्यादा मामले दर्ज किए गए थे।

एक्सपर्ट का कहना है कि एमआईएस-सी का जल्द पता लगने पर इसका इलाज संभव है। एमआईएस-सी की बीमारी में एक्सपर्ट के अनुसार बुखार, सांस लेने में परेशानी, पेट दर्द की शिकायत और त्वचा और नाखुन नीला पड़ जाता है। अब तक सबसे ज्यादा मरीज 5 और 15 साल की उम्र के बीच मिले हैं।

सर गंगा राम अस्पताल में कार्यरत इंडियन एकेडमी ऑफ पेडियाट्रिक्स इंटेंसिव केयर चैप्टर के निर्वाचित चेयरपर्सन डॉक्टर धीरेन गुप्ता बच्चों में कोरोना का गंभीर संक्रमण दो बदलाव लाता है। बच्चे को निमोनिया हो सकता है या एमआईएस-सी की स्थिति पनप जाती है।

खबरें और भी हैं...