• Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • Railway Minister Vaishnav Said It Will Be Installed In All Trains; Induction Will Be Used On The Basis Of Safety Standards, There Will Be No Smoke

ट्रेनों के लिए लपट रहित पेंट्री कार सबसे ज्यादा सुरक्षित:रेलमंत्री वैष्णव बोले ये सभी ट्रेनों में लगेगी; सुरक्षा मानकों के आधार पर इंडक्शन का होगा उपयोग, धुंआ भी नहीं होगा

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अब ट्रेनों में यात्रियों को सफर के दौरान खान-पान के लिए लगने वाले ‘इलेक्ट्रिक पेंट्री कार’ से प्रदूषण नहीं फैलेगा। रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव ने गुरुवार को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर बोर्ड के मेंबर राहुल जैन, उत्तर रेलवे के जीएम आशुतोष गंगल, दिल्ली मंडल के मंडल रेल प्रबंधक डिम्पी गर्ग व अन्य अधिकारियों के साथ उत्तर रेलवे द्वारा विकसित प्रोटोटाइप ‘इलेक्ट्रिक पेंट्री कार’का निरीक्षण किया।

उत्तर रेलवे के लखनऊ स्थित आलमबाग कारखाना के इंजीनियरों ने एक एलपीजी गैस आधारित पेंट्री कार को ‘इलेक्ट्रिक पेंट्री कार’ के प्रोटोटाइप में बदला गया है। लपट रहित नए ‘इलेक्ट्रिक पेंट्री कार’ के इस प्रोटोटाइप में एलएचबी पेंट्री के मानकों के अनुरूप इंडक्शन उपकरण व धुंआ एवं अग्निरोधक प्रणाली से लैस है। इस पेंट्री कार में एलईडी बल्बों काे लगाया गया है जो पहले के मुकाबले उर्जा भी संचित करती है और अधिक रोशनी देती है।
एलपीजी का उपयोग पेंट्री कार में पूरी तरह खत्म होगा
रेल मंत्री ने कहा उत्तर रेलवे के द्वारा विकसित नया ‘इलेक्ट्रिक पेंट्री कार’ सुरक्षित और पर्यावरण अनुकूल हैं। अब इस इलेक्ट्रिक पेंट्री कार से खतरनाक एवं प्रदूषणकारी जीवाश्मा ईंधन (एलजीपी गैस) के इस्तेमाल को भी समाप्त कर दिया गया है। अब पेंट्री कार से धुंआ नहीं निकलेगा। न ही आग की लपटें निकलेंगे। रेल मंत्री ने उत्तर रेलवे के इंजीनियरों का प्रशंसा करते हुए कहा कि प्रदूषण से निपटने के लिए हमें इसी तरह के नए प्रयोग की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि देश के सभी ट्रेनों में इस प्रोटोटाइप के पेंट्री कार को लगाने की आवश्यकता है।

खबरें और भी हैं...