दवाई भी, ढिलाई भी:देश में 24 घंटे में रिकॉर्ड 20.53 लाख टीके लगे, 24882 नए रोगी मिले

नई दिल्ली10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वैक्सीनेशन - Dainik Bhaskar
वैक्सीनेशन
  • काेराेना संक्रमण के देश में फिर बीते साल जैसे हालात
  • महाराष्ट्र, तमिलनाडु, पंजाब, एमपी, गुजरात, कर्नाटक, दिल्ली अाैर हरियाणा में ज्यादा केस

देश में कोरोना संक्रमण में फिर चिंताजनक बढ़ाेत्तरी हो रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की शनिवार काे दी गई जानकारी के अनुसार बीते 24 घंटे में काेराेना के 24,882 नए मामले सामने आए हैं। यह इस साल एक दिन में सामने आए मरीजों की सर्वाधिक संख्या है। हालांकि कोरोना टीका लगाने में भी रिकाॅर्ड बना है। एक दिन में सबसे ज्यादा 20,53,537 लाेगाें काे टीका लगाया गया है। अब तक टीके की कुल 2.6 कराेड़ खुराकें दी जा चुकी हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शनिवार सुबह जारी आंकड़ाें के मुताबिक नए संक्रमित मामलों की संख्या बीते 83 दिन में सबसे अधिक है। आठ राज्याें में काेराेना मामले सबसे तेजी से बढ़े हैं। ये राज्य - महाराष्ट्र (15,817), पंजाब (1408), कर्नाटक (833), गुजरात (715), तमिलनाडु (670), मध्य प्रदेश (603), दिल्ली (431) और हरियाणा (385) हैं। अकेले महाराष्ट्र में 63.57 % नए मामले सामने आए।

इससे पहले पिछले साल 20 दिसंबर को एक दिन में सबसे ज्यादा 26,624 लोगाें के संक्रमित हाेने की पुष्टि हुई थी। देश में अब तक कोरोना से संक्रमित लोगों की कुल संख्या 1,13,33,728 हो गई है। पिछले 24 घंटाें में 140 काेराेना मरीजों की मौत भी हुई है। इन्हें मिलाकर देश में इस महामारी से 1,58,446 लोगों की जान जा चुकी है।

संक्रमित मरीज 2% हुए, ठीक होने वालों की दर गिरी

शनिवार शाम साढ़े सात बजे तक सक्रिय मरीजाें का आंकड़ा 2,07,449 हाे गया है। यह कुल संक्रमितों का करीब दाे प्रतिशत है। नए मामलों में बढ़ोतरी की वजह से ठीक होने वालों की दर में भी गिरावट आई है। यह 96.82% पर पहुंच गई है।

मंत्रालय के मुताबिक देश में कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या 1,09,73,260 हो गई है। संक्रमितों की मृत्यु दर 1.40% है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार, देश में अभी तक कुल 22,58,39,273 नमूनों की कोरोना जांच की गई है।

इधर केंद्र ने कहा- वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित, मामूली साइड इफेक्ट्स का भी रिकॉर्ड रख रहे
यूरोप के कुछ देशों में एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन (कोविशील्ड) के साइड इफेक्ट्स की अपुष्ट खबरों के बाद भारत सरकार सचेत हो गई है। साइड इफेक्ट्स की जांच के लिए बनी नेशनल कमेटी के चेयरमैन डॉ. नरेंद्र अरोड़ा ने बताया, ‘हम टीकाकरण के पहले दिन से साइड इफेक्ट्स की समीक्षा कर रहे हैं। अभी तक सिर्फ 0.00025% लोगों को ही वैक्सीन लगाने के बाद अस्पताल में भर्ती करना पड़ा।

यह औसत दुनिया में सबसे कम है। इसलिए कोविशील्ड को लेकर उठ रहे सवाल निराधार हैं। डब्ल्यूएचओ भी दो दिन पहले यही बात कह चुका है।’ केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि टीका लगने के बाद मामूली साइड इफेक्ट्स का भी रिकॉर्ड रखा जा रहा है। अभी तक कोई गंभीर साइड इफेक्ट्स नहीं दिखे हैं।

खबरें और भी हैं...