असम के सीएम काे चुनाव आयाेग की चेतावनी:सरमा ने आयाेग के निर्देशाें और एडवायजरी के खिलाफ काम किया, भविष्य में अधिक सावधानी बरतें

नई दिल्ली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चुनाव आयाेग ने मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा काे उपचुनाव के प्रचार के दाैरान आचार संहिता के उल्लंघन का दाेषी माना है। - Dainik Bhaskar
चुनाव आयाेग ने मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा काे उपचुनाव के प्रचार के दाैरान आचार संहिता के उल्लंघन का दाेषी माना है।

चुनाव आयाेग ने असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा काे उपचुनाव के प्रचार के दाैरान आचार संहिता के उल्लंघन का दाेषी माना है और चेतावनी दी है। आयाेग ने अपने आदेश में कहा है कि सरमा ने आयाेग के निर्देशाें और एडवायजरी के प्रतिकूल काम किया है। आयाेग ने उनकाे भविष्य में अधिक सावधानी बरतने और आचार संहिता का पालन करने की हिदायत दी है।

उपचुनाव के प्रचार के दाैरान सड़काें के निर्माण और अन्य विकास कार्याें का वादा करने काे लेकर आयाेग ने साेमवार काे उनकाे नाेटिस जारी किया था। दाे शिकायताें पर यह कार्रवाई की गई थी। सरमा ने अपने जवाब में आराेपाें से इनकार करते हुए कहा था कि जाे भी घाेषणाएं उन्हाेंने की थीं, वे ऐसी परियाेजनाओं से संबंधित हैं जाे या ताे जारी हैं या बजट में उनकी घाेषणा की जा चुकी है। काेई नई घाेषणा नहीं की गई है।

कांग्रेस ने कहा- आयाेग काे सख्त कार्रवाई करनी थी
कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि चुनाव आयाेग काे सरमा पर और सख्त कार्रवाई करनी चाहिए थी। उन्हाेंने सरमा और भाजपा से चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के लिए जनता से माफी मांगने की भी मांग की।

उधर, असम कांग्रेस अध्यक्ष ने चुनाव आयोग सचिव एनटी भूटिया ने नियमों का हवाला देते हुए कहा कि जब से चुनाव की घोषणा की जाती है, तब से मंत्री और अन्य प्राधिकरण किसी भी रूप में किसी भी वित्तीय अनुदान या उसके वादे या फिर सड़कों के निर्माण, पेयजल सुविधाओं के प्रावधान आदि का कोई वादा नहीं कर सकते हैं। चुनाव पैनल ने बताया कि असम कांग्रेस अध्यक्ष भूपेन और विधानसभा में विपक्ष के नेता देवव्रत सैकिया की शिकायतों के बाद सोमवार को सरमा को नोटिस दिया गया है।