• Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • Schools will open after July 15, only 33 to 50 percent of children will be able to come in a day; Focus on online studies too

केंद्र की गाइडलाइन जल्द / 15 जुलाई के बाद खुलेंगे स्कूल, एक दिन में 33 से 50 फीसदी बच्चे ही आ सकेंगे; ऑनलाइन पढ़ाई पर भी फोकस

बच्चों काे स्कूल में ध्यान रखी जाने वाली बाताें की ट्रेनिंग दी जाएगी। -प्रतीकात्मक फोटो बच्चों काे स्कूल में ध्यान रखी जाने वाली बाताें की ट्रेनिंग दी जाएगी। -प्रतीकात्मक फोटो
X
बच्चों काे स्कूल में ध्यान रखी जाने वाली बाताें की ट्रेनिंग दी जाएगी। -प्रतीकात्मक फोटोबच्चों काे स्कूल में ध्यान रखी जाने वाली बाताें की ट्रेनिंग दी जाएगी। -प्रतीकात्मक फोटो

  • बच्चाें और स्कूल स्टाफ काे डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजेशन की ट्रेनिंग दी जाएगी
  • मानव संसाधन विकास मंत्रालय पढ़ाई के लिए गाइडलाइन तैयार कर रहा

अमित कुमार निरंजन

अमित कुमार निरंजन

May 22, 2020, 10:50 AM IST

नई दिल्ली. काेराेना संकट के चलते मार्च से बंद स्कूल 15 जुलाई के बाद खुल सकते हैं। मानव संसाधन विकास मंत्रालय स्कूलाें में पढ़ाई के लिए गाइडलाइंस तैयार कर रहा है, जाे जल्द जारी हो सकती है। सूत्राें के मुताबिक, एक दिन में 33% या 50% बच्चे ही स्कूल जाएंगे। उपलब्ध संसाधनों के आधार पर राज्य सरकार और स्कूल प्रशासन तय करेंगे कि कितने बच्चे बुलाने हैं।

छात्राें की संख्या के आधार पर हाथ धाेने की सुविधा, टाॅयलेट, पीने के पानी के नल आदि बढ़ाने पड़ सकते हैं। 50% छात्राें का फाॅर्मूला लागू करने वाले स्कूलों में छात्र सप्ताह में तीन और 33% का फॉर्मूला लागू करने वाले स्कूलाें में सप्ताह में 2 दिन ही स्कूल जाएंगे। बाकी दिन ऑनलाइन पढ़ाई होगी।

जून के अंतिम सप्ताह में गाइडलाइंस का रिव्यू हाेगा
संक्रमण की स्थिति के आधार पर जून के अंतिम सप्ताह में गाइडलाइंस का रिव्यू हाेगा। उसके आधार पर स्कूल खाेलने की तारीख में बदलाव भी हाे सकता है। स्कूल खाेलने या नहीं खाेलने का अंतिम फैसला भी राज्य और स्कूल प्रशासन अपने स्तर पर ही लेंगे।

मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि गाइडलाइन्स में स्कूलों में सोशल डिस्टेंसिंग और सैनिटाइजेशन का ख्याल रखा जाएगा। प्राइवेट स्कूलों के संगठन एक्शन कमेटी ऑफ एनऐडड रिकाॅग्नाइज्ड प्राइवेट स्कूल्स के जनरल सेक्रेटरी भरत अरोड़ा ने कहा कि गाइडलाइंस मिलते ही वे एसओपी तैयार कर लेंगे। उधर, दिल्ली पेरेंट्स एसाेसिएशन की अध्यक्ष अपराजिता गौतम ने कहा कि संक्रमण कम नहीं होता है तो स्कूल नहीं खोलने चाहिए।

एक से ज्यादा एंट्री-एग्जिट पाॅइंट
स्कूल खुलने से पहले दो हफ्ते तक टीचिंग और नॉन टीचिंग स्टाफ काे साेशल डिस्टेंसिंग और सैनिटाइजेशन की ट्रेनिंग दी जाएगी। बच्चों काे भी स्कूल में ध्यान रखी जाने वाली बाताें की ट्रेनिंग दी जाएगी। स्कूल में एक से ज्यादा एंट्री-एग्जिट पाॅइंट बन सकते हैं। हर क्लास के लिए टॉयलेट और पानी पीने की जगह तय हाेगी। दूसरे छात्र वहां नहीं आ सकेंगे। अगर किसी क्लास में कोई संक्रमित मिला ताे इस व्यवस्था के चलते सिर्फ एक क्लास के बच्चे ही क्वारैंटाइन करने पड़ेंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना