पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना काल:सिसोदिया बोले-बेड की गलत जानकारी देने वाले अस्पतालों पर होगी करवाई, बेडों की संख्या बढ़ाई जाएगी

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो - उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया

दिल्ली सरकार ने कहा है कि तनाव में आकर अस्पतालों की ओर न भागे, होम आइसोलेशन कोरोना से लड़ने का सबसे कारगर उपाय है। होम आइसोलेशन के दौरान डॉक्टर नियमित रूप से लोगों से फ़ोन पर संपर्क में रहते है। यदि तेज बुखार आता है या सिस्टम्स ज़्यादा बढ़ते है तभी अस्पतालों में जाए।

उपमुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की अस्पताल जाने से पहले ‘दिल्ली कोरोना ऐप’ पर अस्पतालों में बेड्स की स्थिति जांच ले और जहां बेड्स मौजूद हो वहां जाए इससे समय बचेगा। उन्होंने कहा कि यदि कोई अस्पताल पर गलत बेड की गलत जानकारी दिखा रहा है या फिर बेड्स होने के बावजूद लोगों को मना कर रहा है तो उस अस्पताल के खिलाफ कड़ी करवाई की जाएगी।

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आज डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से दिल्ली के लोगों को संबोधित करते हुए कहा। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में पैनिक न करते हुए लॉकडाउन का सही ढंग से पालन करें।

इन अस्पतालों में बढ़ाई जाएगी बेडों की संख्या

मुख्यमंत्री ने बताया कि बुराड़ी अस्पताल में अभी 320 बेड्स मंजूर है जिनकी संख्या 800 की जाएगी। अम्बेडकर नगर अस्पताल में बेड्स की क्षमता 200 से 600 की जाएगी। दीनदयाल अस्पताल में बेड्स 250 से बढ़ाकर 750 किए जाएंगे। आचार्य भिक्षु अस्पताल और डीआरडीओ के कोरोना सेंटर में 250-250 नए बेड्स शामिल किए जाएंगे। नरेला के राजा हरिश्चंद्र अस्पताल में बेड्स की संख्या 200 से 400 की जाएगी।

साथ ही दिल्ली सरकार के एक स्कूल को एलएनजेपी अस्पताल से जोड़ा जाएगा जिसमें 125 बेड्स शामिल होंगे। इसके साथ ही कॉमनवेल्थ गेम्स विलेज में 500 बेड्स का सेन्टर तैयार किया जाएगा। ये सभी बेड्स अगले 4-5 दिनों में तैयार कर दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि अभी भी दिल्ली में करीब 2500 बेड्स खाली है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें