पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भास्कर पड़ताल:एप ने बताया 20 बेड खाली है, अस्पताल ने कहा अभी अनुमति के लिए आवेदन किया है

नई दिल्ली9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बुधवार को भास्कर ने दोबारा पीसीआरआई अस्पताल में फोन किया तो उन्होंने भी अभी एडमिट नहीं करने की बात दोहराई
  • साथ ही कहा कि अभी उनके यहां पर कोविड मरीजों को भर्ती करने की प्रक्रिया शुरू होने में टाइम लगेगा

(आनंद पवार) कोरोना पीड़ितों को अस्पताल में बेड और वेंटिलेटर की जानकारी देने के लिए मंगलवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के लांच किए ‘दिल्ली कोरोना एप’ में अभी भी कोई सुधार नहीं हुआ है। बुधवार को भी निजी अस्पताल से बात करने पर उन्होंने अभी कोरोना मरीजों के प्रवेश नहीं लेने की बात कहीं। एक्शन कैंसर अस्पताल की तरफ से बताया गया कि अभी वह कोरोना पीड़ितों को प्रवेश नहीं दे रहे है।

अभी उन्होंने जरूरी अनुमति के लिए आवेदन किया हुआ है। भास्कर ने 3 जून के अंक में ‘डेढ़ घंटे बाद भास्कर ने 100 प्रतिशत बेड उपलब्ध होने वाले 7 अस्पताल में फोन तो 4 बोले एडमिट नहीं कर रहे, तीन बोले फुल हैं’ शीर्षक से खबर प्रमुखता से प्रकाशित की थी। इस खबर के बाद कई लोगों ने अपनी परेशानी भी सांझा की। वहीं, विपक्ष ने भी दिल्ली सरकार के उपलब्धी बताने की राजनीति न करने की सीख दी।

बुधवार को भास्कर ने दोबारा पीसीआरआई अस्पताल में फोन किया तो उन्होंने भी अभी एडमिट नहीं करने की बात दोहराई। साथ ही कहा कि अभी उनके यहां पर कोविड मरीजों को भर्ती करने की प्रक्रिया शुरू होने में टाइम लगेगा। वहीं कुछ ने कहां कि अभी उनके यहां पर बेड खाली नहीं है। इस मामले में दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य सचिव पद्मिनी सिंघला और स्पेशल सेक्रेटरी एसएम अली से जवाब के लिए संपर्क किया और मैसेज भी भेजा, लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। 

हम सिर्फ कोविड के कैंसर मरीज लेंगे 

वहीं, राजीव गांधी कैंसर इंस्टीट्यूट एंड रिसर्च सेंटर (आरजीसीआई एंड आरसी) ने कहा कि अभी कोविड मरीजों को नहीं ले रहे। जब उनसे कहा गया कि दिल्ली सरकार के एप पर आपके अस्पताल में बैड खाली बताएं जा रहे है तो उन्होंने दोबारा अपने वरिष्ठ से बात करके बताया कि हमारे यहां पर अभी कैंसर पीड़ित कोरोना पीड़ितों को ले रहे हैं। 

विपक्ष ने भी उठाया मुद्दा- केजरीवाल का एप रियलिटी चेक में फेल साबित हुआ
केजरीवाल सरकार अस्पतालों में बेड की उपलब्धता बताने के लिए लांच किया गया एप रियलिटी चेक में फेल साबित हुआ है। कोविड-19 महामारी के समय में केजरीवाल सरकार ने मृत्यु के आंकड़ो, टेस्टिंग और अब अस्पतालों में बेड की उपलब्धता को लेकर झूठ बोलकर दिल्ली के लेघों का दर्द बढ़ाया है। दिल्ली सरकार ने मजदूरों के हितों के लिए काम नहीं किया। उसके विपरीत उन्हें भोजन और राशन से वंचित रख कर पलायन करने पर मजबूर कर दिया है।-आदेश कुमार गुप्ता, प्रदेश अध्यक्ष, दिल्ली भाजपा।  

सरकार अपनी नाकामियों को छिपा रही 
दिल्ली सरकार अपनी नाकामियों और खामियों को छिपाने के लिए नए नए हथियार लेकर आती है। यह एप भी ऐसा ही एक हथियार है। इस एप में बताया जा रहा है कि अस्पताल में बैड खाली है। जहां कोविड मरीजों को ले रहे है उन अस्पताल में एप बैड खाली दिखा रहा है, जबकि बैड पूरी तरह भरे हुए है। वहीं, कई अस्पताल अभी मरीजों को भर्ती ही नहीं कर रहे है। यह सरकार जनता की जान के साथ खिलवाड़ कर रही है। - अनिल चौधरी, अध्यक्ष, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें