पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रणनीति बदली:वैक्सीनेशन 24X7; दिन हो या रात, निजी अस्पतालों में अब हर वक्त टीका, सुबह 9 से शाम 5 बजे तक की बाध्यता खत्म

नई दिल्ली/पटना/भागलपुरएक महीने पहलेलेखक: पवन कुमार
  • कॉपी लिंक
केंद्र सरकार ने कोरोना वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ाने के लिए सुबह 9 से शाम 5 बजे तक की बाध्यता खत्म कर दी है। यानी, अब निजी अस्पताल चाहें तो किसी भी समय टीका लगा सकते हैं। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
केंद्र सरकार ने कोरोना वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ाने के लिए सुबह 9 से शाम 5 बजे तक की बाध्यता खत्म कर दी है। यानी, अब निजी अस्पताल चाहें तो किसी भी समय टीका लगा सकते हैं। (फाइल फोटो)
  • कर्नाटक में विधायक को घर पर टीका लगाने पर केंद्र के निर्देश- अस्पताल में ही टीके लगाए जाएंगे

केंद्र सरकार ने कोरोना वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ाने के लिए सुबह 9 से शाम 5 बजे तक की बाध्यता खत्म कर दी है। यानी, अब निजी अस्पताल चाहें तो किसी भी समय टीका लगा सकते हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि अगर टीका लेने वाले को कोई आपत्ति न हो तो अस्पताल शाम 5 बजे के बाद भी वैक्सीनेशन कर सकते हैं।

अगर टीका लगवाने आने वालों की संख्या बढ़ती है तो राज्य सरकारें यह फैसला लेने के लिए भी स्वतंत्र हैं कि वे सरकारी अस्पतालों में भी दिन-रात किसी भी दिन वैक्सीनेशन जारी रख सकती हैं। वैक्सीन की कमी न हो, इसके लिए राज्यों को 5 करोड़ डोज भेजी जा चुकी हैं, जबकि अभी तक 1.49 करोड़ डोज लगी हैं। यानी, राज्यों के पास 3.51 करोड़ डोज बची हुई हैं। मंगलवार से देश के 27 हजार सेंटरों पर टीके लगने शुरू हो गए हैं। इनमें साढ़े 12 हजार सेंटर निजी अस्पतालों ने बनाए हैं।

टीका लगवाने के इच्छुक कोविन पोर्टल या अस्पताल जाकर करा सकते हैं रजिस्ट्रेशन

एम्पावर्ड ग्रुप ऑफ वैक्सीन एडमिनिस्ट्रेशन के चेयरमैन आरएस शर्मा ने बताया कि कोविन 2.0 पोर्टल पर सोमवार से मंगलवार दोपहर तक 50 लाख से ज्यादा लोगों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। जो लोग रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं, वे फोन या कंप्यूटर के ब्राउजर में selfregistration.cowin.gov.in टाइप करें। इसके बाद मोबाइल नंबर के साथ रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू होगी। नजदीकी अस्पताल में जाकर भी टीके के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया जा सकता है।

बड़ा सबक... ब्रिटेन ने सबसे पहले वैक्सीनेशन शुरू की, सबसे तेज नतीजे भी वहीं; 2 माह में नए मरीज 68 हजार से घटकर 8 हजार हुए

ब्रिटेन में 5 जनवरी के बाद दूसरी डोज लगनी शुरू हुई। तब तक रोज एक लाख से भी कम लोगों को वैक्सीन लग रही थी। रोज मिलने वाले मरीज भी लगातार बढ़ते जा रहे थे। 8 जनवरी को सर्वाधिक 68 हजार मरीज मिले। फिर जैसे-जैसे दूसरी डोज लगवाने वालों की संख्या बढ़ती गई, नए मरीजों में तेज गिरावट शुरू हो गई।

अब रोज मिलने वाले मरीजों की संख्या 8 हजार रह गई है, जो भारत से भी कम है। लेकिन, जब ब्रिटेन में टीके लगने शुरू हुए थे तो वहां भारत से तीन गुना ज्यादा मरीज मिल रहे थे। साढ़े 6 करोड़ की आबादी वाले ब्रिटेन में अब तक कुल 2.1 करोड़ लोगों को वैक्सीन की कम से कम एक डोज लग चुकी है। हालांकि, सरकार ने दूसरी डोज के आंकड़े अभी जारी नहीं किए हैं।

वैक्सीन के असर पर नया शोध: एक डोज से अस्पताल में भर्ती होने की आशंका 80% तक कम
टेन के स्वास्थ्य विभाग ने वैक्सीन के असर पर डेटा एनालिसिस किया है। इसके अनुसार जो लोग एक डोज लगने के बाद संक्रमित हुए, उनमें ज्यादातर बिना लक्षण वाले थे। अहम बात यह है कि पहली डोज ले चुके लोग जब संक्रमित हुए तो सामान्य कोरोना मरीजों की तुलना में 80% तक कम अस्पताल में भर्ती करने पड़े।

ब्रिटिश हेल्थ सेक्रेटरी मैट हैंकॉक ने बताया कि वैक्सीन के नतीजे उम्मीद से बेहतर रहे हैं। फिर चाहे वैक्सीन फाइजर की हो या ऑक्सफोर्ड-एट्रेजेनिका की। मालूम हो कि भारत में भी ऑक्सफोर्ड-एस्ट्रेजेनिका (कोविशील्ड) ही सबसे ज्यादा लग रही है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने काम को नया रूप देने के लिए ज्यादा रचनात्मक तरीके अपनाएंगे। इस समय शारीरिक रूप से भी स्वयं को बिल्कुल तंदुरुस्त महसूस करेंगे। अपने प्रियजनों की मुश्किल समय में उनकी मदद करना आपको सुखकर...

    और पढ़ें