पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भास्कर 360 डिग्री:वॉट्सएप की पॉलिसी नई पॉलिसी, इसे एक्सेप्ट नहीं करने पर अकाउंट करना होगा डिलीट

नई दिल्ली7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
वॉट्सएप आपकी हर सूचना को अपनी पैरेंट कंपनी फेसबुक के साथ शेयर करेगा। - Dainik Bhaskar
वॉट्सएप आपकी हर सूचना को अपनी पैरेंट कंपनी फेसबुक के साथ शेयर करेगा।
  • जानि आखिर क्यों विवादों में रहता है वॉट्सएप

वॉट्सएप के दुनिया भर में लगभग 200 करोड़ यूजर्स हैं, लेकिन पिछले कुछ दिनों से वॉट्सएप ने अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी से एक बहस खड़ी कर दी है। नई प्राइवेसी पॉलिसी में कहा गया है कि यूजर को इसे 8 फरवरी तक स्वीकार करना होगा, अस्वीकार करने की स्थिति में यह वॉट्सएप अकाउंट डिलीट कर देगा। बहस नई प्राइवेसी पॉलिसी के नियमों की है। इनमें कहा गया है कि वॉट्सएप आपकी हर सूचना को अपनी पैरेंट कंपनी फेसबुक के साथ शेयर करेगा।

इस नई प्राइवेसी पॉलिसी के आने के साथ ही दुनिया भर में इसकी आलोचना शुरू हो गई है। कई दिग्गजों ने वॉट्सएप को छोड़कर अन्य मैसेजिंग एप को इस्तेमाल करने की वकालत शुरू कर दी है, जिसमें निजता के हनन का खतरा न के बराबर है।

साइबर क्राइम एक्सपर्ट पवन दुग्गल कहते हैं कि वॉट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी को एक्सेप्ट करना खुद को आग में झोंकने जैसा है। क्योंकि एक बार इस पॉलिसी को एक्सेप्ट करते ही आप मोबाइल अथवा कम्प्यूटर में उपलब्ध सारी जानकारी वॉट्सएप को सौंप देेंेगे। फिर आपके पास कुछ नहीं बचेगा। एक और महत्वपूर्ण बात यह है कि हमारे देश में निजता के हनन को लेकर कड़े कानून नहीं हैं।

यही कारण है वॉट्सएप ऐसी शर्तें लोगों पर थोप रहा है जबकि कड़े कानून वाले देशों में उसकी शर्तें अलग होती हैं। खासकर अमेरिका और यूरोपियन यूनियन के देशों के लिए। गौरतलब है कि दिसंबर 2020 में अमेरिका के 40 से अधिक राज्यों ने वॉट्सएप की पैरेंट कंपनी फेसबुक के खिलाफ प्रतिस्पर्धारोधी कानून के तहत मुकदमा दायर किया है।

इसमें छोटी कंपनियों को मार्केट में आने से रोकने और एकाधिकार जमाने के आरोप हैं। अक्टूबर में गूगल के खिलाफ भी ऐसा ही मुकदमा दायर किया जा चुका है। वॉट्सएप की नई पॉलिसी ऐसे वक्त आई है जब उसकी पैरेंट कंपनी पहले ही विवादों में है।

1. जब जेफ बेजोस का अकाउंट हैक हो गया

वॉट्सएप के सबसे बड़े विवादों में से एक विवाद है अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस का अकाउंट हैक होना। मई 2018 में बेजोस को वॉट्सएप पर एक वीडियो मिला। अमेजन सीईओ ने बताया कि इस एमपी-4 क्लिप में कथित रूप से एक मालवेयर था, जिसने उनके आईफोन में डेटा को बंद करना शुरू कर दिया। खबरों के अनुसार, यह क्लिप कथित तौर पर सऊदी क्राउन प्रिंस के अकाउंट से भेजी गई थी। हालांकि सऊदी सरकार ने आरोपों को झूठा बताया था।

2. जब टेलीग्राम फाउंडर ने बताया था खतरनाक

टेलीग्राम के फाउंडर पावेल दुराेव ने अपने ब्लॉग में वॉट्सएप का उपयोग क्याें हैं खतरनाक’ नाम से पाेस्ट डाली थी, जिसमें उन्होंने बताया कि किसी भी स्मार्टफोन के एप में बग्स पिछले दरवाजे से घुसकर किसी भी डेटा या फिर पूरे डेटा को एक्सपोज कर देते है, जिससे हैकर्स एप को आसानी से हैक कर लेते हैं। ऐसे में इस एप के एंड-टू-एंड इनक्रिप्शन का कोई फायदा नहीं है। दुरोव ने आरोप लगाया कि वॉट्सएप हैकर्स को बैक डोर से एक्सेस की छूट देता है।

3. गूगल पर सर्च हो रहा वॉट्सएप का ग्रुप चैट

यह एक ऐसा विवाद है जिसमें मैसेजिंग एप ने पिछले साल खुद को फंसा लिया। ‘वॉइस’ में प्रकाशित एक खबर के अनुसार, गूगल वॉट्सएप के ऐसे एडमिन के वॉट्सएप ग्रुप चैट के इन्वाइट्स का इंडेक्स बनाता है जो खुद को प्राइवेट रखते हैं। इसका सीधा सा अर्थ यह है कि कोई भी आम आदमी गूगल पर सर्च करके इन वॉट्सएप ग्रुप के चैट को ज्वाइन कर सकता है। वॉट्सएप के प्रवक्ता के अनुसार ग्रुप इन्वाइट लिंक जिन्हें पब्लिकली पोस्ट किया जाता है उसे कोई भी अन्य वॉट्सएप यूजर गूगल पर सर्च कर प्राप्त कर सकता है।

वॉट्सएप की प्राइवेसी पॉलिसी में क्या बदलाव

  • फेसबुक ने साल 2014 में 19 अरब डॉलर में वॉट्सएप को ख़रीदा था और सितंबर, 2016 से ही वॉट्सएप अपने यूज़र्स का डेटा फेसबुक के साथ शेयर करता आ रहा है।
  • अब वॉट्सएप ने नई प्राइवेसी पॉलिसी में फेसबुक के साथ ही इससे जुड़ी कंपनियों के साथ भी अपने यूज़र्स का डेटा शेयर करने की बात का साफ तौर पर कही है।
  • वॉट्सएप अपने यूज़र्स का इंटरनेट प्रोटोकॉल एड्रेस (आईपी एड्रेस) फेसबुक, इंस्टाग्राम या किसी अन्य थर्ड पार्टी को दे सकता है।
  • नई प्राइवेसी पॉलिसी में वॉट्सएप ने साफ कहा है कि चूंकि उसका मुख्यालय और डेटा सेंटर अमेरिका में है इसलिए जरूरत पड़ने पर यूजर्स की निजी जानकारियों को वहां ट्रांसफर किया जा सकता है। सिर्फ अमेरिका ही नहीं बल्कि जिन भी देशों में वॉट्सएप और फेसबुक के दफ्तर हैं, लोगों यानी यूजर्स का डेटा वहां भी भेजा जा सकता है।
  • नई पॉलिसी के अनुसार भले ही आप वॉट्सएप का ‘लोकेशन’ इस्तेमाल न करें, आपके आईपी एड्रेस, फोन नंबर, देश और शहर जैसी जानकारियां वॉट्सएप के पास होंगी।
  • वॉट्सएप ने भारत में पेमेंट सेवा शुरू कर दी है और ऐसे में अगर आप इसका पेमेंट फीचर इस्तेमाल करते हैं तो वॉट्सएप आपका कई और निजी डेटा जैसे आपका पेमेंट अकाउंट और ट्रांजेक्शन से जुड़ी जानकारियां भी इकट्‌ठा करेगा।
  • वॉट्सएप अब आपके डिवाइस से ब्राउजर से जुड़ी जानकारियां, भाषा, टाइम जोन, फोन नंबर, मोबाइल और इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर कंपनी जैसी जानकारियाें के अलावा बैट्री लेवल, सिग्नल स्ट्रेंथ, एप वर्जन तक की जानकारी इकट्ठा करेगा।
  • अगर आप मोबाइल से सिर्फ वॉट्सएप डिलीट करते हैं और ‘माई अकाउंट’ सेक्शन में जाकर ‘इन-एप डिलीट’ का विकल्प नहीं चुनते हैं तो आपका डेटा वॉट्सएप के पास रहेगा।

सभी मोस्ट डाउनलोड एप फेसबुक की

2010 से 2019 के बीच सबसे ज्यादा डाउनलोड की गई सभी एप्स फेसबुक की रही। खुद फेसबुक एप पहले नंबर पर रही, दूसरे नंबर पर मैसेंजर, तीसरे पर वॉट्सएप और चौथे पर इंस्टाग्राम एप रहा। फेसबुक ने इंस्टा को 2012 में एक अरब डॉलर मूल्य में खरीद लिया था।

वॉट्सएप से जुड़े 8 प्रमुख आंकड़े

2 अरब यूजर्स हैं दुनियाभर में, 9.6 करोड़ बार वॉट्सएप डाउनलोड किया गया फरवरी 2020 में, 180 देशों और 60 भाषाओं में उपलब्ध है यह एप, 40 करोड़ यूजर सर्वाधिक भारत में हैं वॉट्सएप के, 65 अरब मैसेज रोज वॉट्सएप से भेजे जाते हैं दुनिया में, 50 करोड़ वॉट्सएप अकाउंट रोज वॉट्सएप स्टेटस फीचर का इस्तेमाल करते हैं, 2009 में वॉट्सएप लॉन्च किया गया था, 19 अरब डॉलर में 2014 में फेसबुक ने वॉट्सएप को खरीद लिया था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपके स्वाभिमान और आत्म बल को बढ़ाने में भरपूर योगदान दे रहे हैं। काम के प्रति समर्पण आपको नई उपलब्धियां हासिल करवाएगा। तथा कर्म और पुरुषार्थ के माध्यम से आप बेहतरीन सफलता...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser