एहतियात / आंशिक रूप से खुले सारोली के 12 कपड़ा मार्केट, अन्य मार्केट को भी खोलने की मांग

सारोली में अभी 2-3 घंटे के लिए ही खुल रही हैं दुकानें सारोली में अभी 2-3 घंटे के लिए ही खुल रही हैं दुकानें
X
सारोली में अभी 2-3 घंटे के लिए ही खुल रही हैं दुकानेंसारोली में अभी 2-3 घंटे के लिए ही खुल रही हैं दुकानें

  • सोशल डिस्टेंसिंग, स्क्रीनिंग के साथ सारोली के कपड़ा मार्केट खुले
  • जो कन्टेनमेंट क्षेत्र में है उन व्यापारियों को दुकान नहीं खोलने को कहा गया

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

सूरत. शहर के सारोली विस्तार के 12 कपड़ा मार्केट कन्टेनमेंट क्षेत्र के बाहर होने से उन्हें सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक खोलने की मंजूरी सूरत महानगर पालिका द्वारा दी गई है। जिसके चलते इन 12 मार्केट में से अधिकतर मार्केट शुरू हो चुके है। कुछ दुकानदार दुकाने खोलते है, बेंकिं और स्टॉक का काम करते है और 2 से 4 घंटे में लौट जाते है। जो कन्टेन्टमेंट विस्तार में है उन वर्कर और व्यपारियो को दुकान नही खोलने की सूचना दी गई है।

सारोली के कुबेरजी हाउस, रघुवीर बिजनेस एम्पायर समेत के मार्केट में गन द्वारा थर्मल जांच, सेनेटाइज, मास्क पहनना और सोशियल डिस्टेंसिंग जैसे नियमो का पालन किया जा रहा है। चहल पहल बढ़ने से बाहर की मंडी भी शुरू होगी और पेमेन्ट - ऑर्डर का काम भी शुरू होगा। उल्लेखनीय है कि रिंग रोड मार्केट कन्टेनमेंट क्षेत्र में है। इसलिए वहां अभी दुकानें नहीं खुलेंगी।
मई-जून के विद्युत बिल के फिक्स चार्ज से मुक्ति देने की मांग की
औद्योगिक क्षेत्रों में छूट मिलने के बाद उद्यमियों ने मंगलवार से इकाइयां तो शुरू कर दी, लेकिन विद्युत बिल के भुगतान की चिंता सता रही है। सचिन इंडस्ट्रियल सोसाइटी ने मार्च-अप्रैल की तरह मई-जून का भी फिक्स चार्ज से मुक्ति देने की मांग सरकार से की है। सचिन इंडस्ट्रियल सोसाइटी की प्रमुख रमाबेन रामोलिया ने बताया कि सचिन इंडस्ट्रियल एक्ट में 2250 इकाइयां हैं। इनके साथ 2.5 लाख कारीगर जुड़े हैं। विविंग की विस्कॉस तैयार करने वाली 20 इकाइयां मुश्किल से शुरू हुई हैं। इकाइयां शुरू होने के बाद बोझ न पड़े, इसलिए राज्य सरकार से मांग की है।
कपड़ा मार्केट को रोज 6 घंटे खोलने की वीपीएस ने की मांग
कंटेनमेंट क्षेत्र रिंगरोड के अलावा सारोली के कुछ क्षेत्रों के कपड़ा मार्केट को आंशिक रूप से शुरू करने की वीपीएस ने मांग की है। वीपीएस के संजय जगनानी ने मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को पत्र लिखकर कहा है कि सूरत में 160 टेक्सटाइल मार्केट हैं, जिनमें 60,000 से ज्यादा व्यापारी कारोबार करते हैं। टेक्सटाइल इंडस्ट्री से 15 लाख लोग जुड़े हुए हैं। मार्केट के चालू होने से यार्न बिकेगा, टैक्सराइजिंग चालू हो सकेगी, वीविंग उद्योग के साथ डाइंग-प्रिंटिंग मिल का काम भी शुरू हो पाएगा। रोज 6 घंटे के लिए मार्केट खोलने की मंजूरी दें।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना