• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • 1463 Online Forms Were Filled In 40 Subjects Of 12 Faculty Of PhD, Highest In Commerce, Accounting, Statistics, Economics And Banking

नर्मद यूनिवर्सिटी:पीएचडी के 12 फैकल्टी के 40 विषयों में 1463 ऑनलाइन फॉर्म भरे गए, कॉमर्स, अकाउंटिंग, स्टेटेस्टिक्स, इकोनॉमिक्स और बैंकिंग में सबसे ज्यादा

सूरत15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नई शिक्षा नीति-2020 अमल में आने और एमफिल बंद होने के बाद पीएचडी करने वाले छात्राें की संख्या बढ़ गई है। - Dainik Bhaskar
नई शिक्षा नीति-2020 अमल में आने और एमफिल बंद होने के बाद पीएचडी करने वाले छात्राें की संख्या बढ़ गई है।
  • नई शिक्षा नीति-2020 अमल में आने और एमफिल बंद होने के बाद पीएचडी करने वाले छात्राें की संख्या बढ़ गई

वीर नर्मद दक्षिण गुजरात यूनिवर्सिटी में पीएचडी में ऑनलाइन फॉर्म भरने की प्रक्रिया पूरी हो गई है। यूनिवर्सिटी की 12 फैकल्टी के 40 विषयों में 1464 फॉर्म भरे गए। इसके सबसे अधिक 226 ऑनलाइन फॉर्म कॉमर्स, अकाउंटिंग, स्टेटेस्टिक्स, इकोनॉमिक्स और बैंकि में, जबकि सबसे कम एक-एक फॉर्म ऑप्टोमेट्री, एनेस्थेसियोलाॅजी, बायोकेमेस्ट्री, फार्मालॉजी और एनाटोमी में भरे गए हैं। ज्ञातव्य है कि यूनिवर्सिटी में नई शिक्षा नीति-2020 अमल में आने के बाद एमफिल बंद कर दिया गया है। इसलिए पिछले दो सालों से पीएचडी करने वाले छात्रों की संख्या बढ़ गई है।

एन्ट्रेंस टेस्ट 10 अक्टूबर को ऑनलाइन
मंगलवार को सिंडीकेट की बैठक में पीएचडी में एन्ट्रेंस टेस्ट लेने का निर्णय लिया गया था। इसके साथ भी तारीख भी सुनिश्चित हुई थी। एन्ट्रस्ट टेस्ट 10 अक्टूबर को ऑनलाइन होगा।

मेडिकल में एक भी फाॅर्म नहीं भरा गया
मेडिकल के 3 विषयों में 1 भी फाॅर्म नहीं आया। फॉरेंसिक मेडिसिन, जनरल मेडिसिन, माइक्रो बायोलॉजी(मेडिसिन), रेडियोलॉजी में एक भी फॉर्म नहीं आया।

50% स्कोर करने वालों को ही प्रवेश दिया जाएगा
यूनिवर्सिटी ने एन्ट्रेस्ट टेस्ट के बाद प्री-पीएचडी कोर्स वर्क में 50% स्कोर करने वाले छात्रों को प्रवेश देने का निर्णय लिया गया है।

3 वर्ष में पीएचडी पूरा करने पर फीस नहीं देनी होगी
पहले दो साल में पीएचडी पूरा करने वाले छात्रों को फीस में राहत दी गई थी। अब तीन साल में पीएचडी पूरा करने वाले छात्रों को राहत दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...