पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • 18 Years Of Marriage, Lived For 8 Years, Fought For Divorce For 10 Years, Now Approved By The Court

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नहीं निभी:18 साल की शादी में 8 साल साथ रहे, 10 साल तलाक को लड़े, अब कोर्ट ने मंजूरी दी

सूरत15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • पति को भरण-पोषण के लिए पत्नी को 12.50 लाख देने होंगे

नानपुरा के दंपती की तलाक की याचिका 10 साल बाद आखिर कोर्ट ने मंजूरी दे दी। इसके साथ ही 18 साल का दाम्पत्य जीवन पर पूर्ण विराम लग गया। दोनों की शादी 2002 में हुई थी। इसमें से 8 साल दोनों साथ रहे, जबकि एक- दूसरे से अलग रहने के लिए 10 साल तक केस लड़ा।

तलाक के साथ ही कोर्ट ने पति को आजीवन भरण-पोषण के तहत 12.50 लाख रुपए पत्नी को चुकाने के आदेश दिए हैं। दंपती की एक संतान है जिसकी उम्र 10 साल है। दोनों के दाम्पत्य जीवन की शुरुआत अच्छी रही। बाद में छोटी- मोटी बातों पर टकराव होने लगा और गृह क्लेश बढ़ गया। आखिर दोनों ने अलग-अलग रहने के लिए कोर्ट में केस किया।

पति ने भरण-पोषण देने की तैयारी दिखाई
तलाक के लिए पति ने याचिका की थी। बाद में आजीवन भरण पोषण के लिए भी पति ने तैयारी बताई। इससे पत्नी ने भी सहमति दर्शाते हुए तलाक के लिए दावा किया। हालांकि दोनों के बीच कई बार समाधान के प्रयास हुए, लेकिन नाकाम रहे। पति की ओर से एडवोकेट अश्विन जोगडिया ने दलीलें दी।

घरेलू हिंसा केस में विवाहिता को राहत, पति को रूम रेंट चुकाने का आदेश

घरेलू हिंसा केस में विवाहिता को कोर्ट ने राहत देते हुए पति को पत्नी के घर का किराया और भरण भरण पोषण सहित 7 हजार रुपए चुकाने के आदेश दिए हैं। साथ ही कोर्ट ने यह भी आदेश दिया कि पीड़िता जिस जगह पर रहती है वहां पति और उसके परिजन नहीं जा सकेंगे। कतारगाम निवासी युवक और युवती की शादी 2005 में हुई थी।

दोनों को दो बच्चे हैं। पति बार-बार पत्नी से मायके से पैसे लाने के लिए दबाव डाल रहा था। बाइक खरीदने के लिए भी पैसे मायके से लाने के लिए पत्नी से कहता था। पत्नी और बच्चों को पति छोड़ कर चला गया था। जिससे पीड़िता ने एडवोकेट प्रीति जोशी के मार्फत कोर्ट में अर्जी की थी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser