पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

परेशानी:कोरोना से ट्रांसपोर्ट इंडस्ट्री को 2 हजार करोड़ का नुकसान

सूरत10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • ट्रांसपोटर्स बोले- अप्रैल से काम पर ब्रेक लग गया था

शादी और रमजान के सीजन में कोरोना का संक्रमण फैलने से सूरत के टेक्सटाइल ट्रेडर्स को भारी नुकसान हुआ है। टेक्सटाइल के साथ-साथ ट्रांसपोर्ट पर भी असर पड़ा है। कोरोना में बंद से 2000 करोड़ की कपड़े की डिलीवरी रुकने से टांसपोर्टरों के लिए विभिन्न खर्च को पूरा करना मुश्किल हो गया है।

ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष युवराज देसले ने बताया कि ट्रांसपोर्ट द्वारा सारोली के कई मार्केटों में 5 से 7 दुकानों का गोडाउन के रूप में इस्तेमाल किया जाता था। दो माह से कारोबार ठप होने से अब किराया चुकाना मुश्किल हो गया है। अधिकांश ट्रांसपोर्टर्स गोदाम खाली कर दिए हैं। आमतौर पर सीजन में 400 ट्रकों से डिलीवरी होती थी। मार्केट खुलने के बाद अब बड़ी मुश्किल 30 ट्रक रवाना हो रहे हैं।

ट्रांसपोर्टर्स का कहना है कि अप्रैल से ही कारोबार पर ब्रेक लग गया था। हालांकि मिनी लॉकडाउन में छूट मिलने मार्केट तो खुल गए हैं, पर गोडाउन खाली पड़े हैं। सीजन में रोजाना 400 ट्रक और आम दिनों में 120 से 150 ट्रकों से पार्सलों की डिलीवरी होती है। अप्रैल-माह में कारोबार बंद होने से 2000 करोड़ से अधिक का नुकसान अब तक हो चुका है।

खबरें और भी हैं...