पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • 20% Of Patients Recovering From Corona, Hospital Coming With Problems Like Head Ache, Sleeplessness

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पोस्ट कोविड सिंड्रोम:कोरोना से ठीक हुए 20% मरीज सिर-बदन दर्द, नींद न आना जैसी समस्याएं लेकर आ रहे अस्पताल

सूरत4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • ऐसे मरीजों को डाॅक्टर हर माह बॉडी चेकअप की दे रहे सलाह

कोरोना से ठीक हो चुके 20 फीसदी मरीज घबराहट, सिरदर्द, गले में खराश और दर्द, सीने में दर्द, सूखी खांसी, कमजोरी, थकान, सांस लेने की समस्या, जोड़ों में दर्द, नींद नहीं आना, भूख न लगना, मांसपेशियों में खिंचाव जैसी समस्याओं से परेशान हैं। ऐसे मरीज इन दिनों सिविल और स्मीमेर अस्पताल की ओपीडी में बढ़ गए हैं। ये ऐसे मरीज हैं जिन्हें कोरोना से ठीक होने में 14 या 20 से ज्यादा दिन लग गए।

ये मरीज डॉक्टर से कहते हैं कि कहीं उन्हें दोबारा कोरोना तो नहीं हो गया है। डॉक्टर इन्हें दवा के साथ सलाह देते हैं कि महीने में एक या दो-बार बॉडी चेकअप जरूर करवाएं, ताकि समस्या का समय पर सही इलाज हो सके। ठीक हुए मरीजों को ऐसी समस्याएं कम से कम दो माह और अधिक से अधिक 6 माह तक हो सकती हैं। डॉक्टरों का कहना है कि मास्क लगाना जरूरी है। मास्क न केवल कोरोना को रोकता है, बल्कि इंफेक्शन, वैक्टीरिया आदि को भी रोकता है।

डाॅक्टर: पोस्ट कोविड मरीज हर माह कराएं ये जांच
3-6 माह तक रह सकती है फेफड़ों की समस्या
चेस्ट फिजिशियन डॉ. दीपक विरडिया ने बताया कि इम्युनिटी कमजोर होने से वैक्टीरिया हावी हो जाते हैं। कोरोना से हुए फाइब्रोसिस के चलते फेफड़े अच्छी तरह से काम नहीं कर पाते। कम से कम 3 से 6 माह तक यह समस्या बनी रहती है। 20 दिन में ब्लड टेस्ट व महीने में सीटी स्कैन जरूर कराएं।

डाॅक्टर: पोस्ट कोविड मरीज हर माह कराएं ये जांच

  • सभी तरह के ब्लड टेस्ट
  • ब्लड प्रेशर, सुगर
  • ईसीजी, चेस्ट का एक्सरे,
  • सोनोग्राफी और एचआरसीटी स्कैन

नोट: ऑक्सीजन की जांच हर दिन या दो दिन में जरूरी है

सिविल-स्मीमेर अस्पताल आ रहे मरीजों की केस हिस्ट्री

  • 55-60%
  • मरीज 40-70 साल के
  • 25-30%
  • मरीजों को एंजाइटी
  • 60%
  • मरीजों में लंग्स फाइब्रोसिस, घबराहट,सिरदर्द

40%
मरीजों में खराश और गले में दर्द, सीने में दर्द और सूखी खांसी
20%
मरीजों में कमजोरी और थकान

2 दिन से एक्टिव मरीज स्थिर, 153 नए केस, 151 डिस्चार्ज, 2 माैत
सूरत. शुक्रवार को कोरोना के 153 नए मामले आए। इनमें शहर के 122 और ग्रामीण के 31 मरीज हैं। अब तक कुल 48507 पाॅजिटिव मामले आ चुके हैं। वहीं इलाज के दौरान 2 मरीजों की मौत हुई। जिन दो मरीजों की माैत हुई उनमें पूणगाम निवासी 63 वर्षीय बुजुर्ग को 17 दिसंबर को सिविल अस्पताल में भर्ती किया गया।

जबकि लिंबायत के रतन चौक निवासी 89 वर्षीय बुजुर्ग को 12 दिसंबर को सिविल अस्पताल में भर्ती किया गया था। कोरोना से अब तक 1119 मरीजों की माैत हो चुकी है। शुक्रवार को 151 मरीज डिस्चार्ज हुए।अब तक 46259 मरीज ठीक हो चुके हैं।

ऐसे मरीजों की आम समस्या मेंटल डिप्रेशन है

ऐसे लोगों में यह समस्या ज्यादा हो रही है जिनके फेफड़ों में 40% से अधिक फाइब्रोसिस था और वे अधिक उम्र के साथ कोमोार्बिड हैं। इनमें काॅमन बात मेंटल डिप्रेशन है। जिन्हें स्टेरायड की मात्रा अधिक दी गई है उनके हार्मोन में चेंज भी देखे जा रहे हैं। -पारुल वडगामा, एचओडी, टीबी एंड चेस्ट विभाग, सिविल

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

    और पढ़ें