पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आरोपी को सजा:सूरत में 14 साल की नाबालिग से दुष्कर्म करने वाले 18 साल के आरोपी को 20 साल की कैद, शादी का झांसा देकर भगा ले गया था

सूरतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो।

सूरत के कोसाड आवास में रहने वाली 14 साल की नाबालिग का अपहरण कर दुष्कर्म करने वाले 18 साल के आरोपी को कोर्ट ने 20 साल की कैद की सजा सुनाई है। इसके अलावा पीड़िता को 7 लाख मुआवजा देने का आदेश दिया है। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश (पॉक्सो) प्रकाशचंद्र काला ने अपने फैसले में कहा कि घटना से पीड़ित की जिंदगी प्रभावित हुई है। दुष्कर्म केवल शरीर पर असर करने वाला अपराध है, पर इससे पीड़ित की आत्मा मर जाती है। इससे यह गंभीर अपराध बन जाता है।

जानकारी के अनुसार टेम्पो चलाकर परिवार का पालन-पोषण करने वाले पिता की 13 साल 11 माह की बेटी 4 मई 2020 को घर से दुकान पर सामान लेने गई थी और वापस नहीं आई। माता-पिता ने काफी खोजबीन की, पर कुछ पता नहीं चला। पिता ने अमरोली थाने में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने बताया कि कोसाड आवास में रहने वाला आरोपी संजय पुत्र अमरीश सोलंकी नाबालिग को शादी करने का झांसा देकर अपने साथ भगा ले गया था।

भावनगर ले गया था
आरोपी पीड़िता को अपने साथ भावनगर ले गया था, जहां उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया। पुलिस ने भावनगर से आरोपी और पीड़िता को कब्जे में लिया था। कोर्ट में एपीपी किशोर रेवलिया ने दलील दी कि पीड़िता की उम्र 18 साल से कम हो तो इसमें उसकी सहमति नहीं मानी जा सकती है। वहीं, बचाव पक्ष ने दलील दी कि दोनों में प्रेम संबंध था। पीड़ित की उम्र संदिग्ध है। वह वयस्क हो सकती है।

आरोपी और पीड़िता सालभर में एक बार ही मिले थे
पीड़िता ने अपने बयान में बताया कि वह आरोपी को एक साल से जानती थी और दोनों एक बार ही मिले थे। इसके बाद उनके बीच फोन पर बातचीत होने लगी थी। एक बार मिलने के बाद भी आरोपी पीड़िता को शादी का झांसा देकर अपने साथ भगा ले गया था।

खबरें और भी हैं...