• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • 31.31 Lakh Theft Busted By Cutting ATM In Surat, Two Accused Of The Infamous Mewati Gang Arrested; Search Continues For Four

लूट का पर्दाफाश:सूरत में एटीएम काटकर हुई 31.31 लाख की चोरी का पर्दाफाश, कुख्यात मेवाती गैंग के दो शख्स गिरफ्तार; चार की तलाश जारी

सूरत21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बदमाशों ने एटीएम में लगे कैमरे पर स्प्रे मार दिया था। - Dainik Bhaskar
बदमाशों ने एटीएम में लगे कैमरे पर स्प्रे मार दिया था।

सूरत के पांडेसरा जीआइडीसी क्षेत्र में पिछले शुक्रवार की रात एटीएम मशीन काट कर की गई 31.31 लाख रुपए की चोरी का राज फाश करते हुए पुलिस ने कुख्यात मेवाती गैंग के दो जनों को गिरफ्तार किया है। जबकि इस गिरोह चार अन्य फरार है। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से 50 हजार रुपए नकद व चोरी में इस्तेमाल की गई कार समेत साढ़े छह लाख रुपए का सामान जब्त किया है।

पुलिस के मुताबिक हरियाणा के नूंह जिले के जाकिर कुरैशी उर्फ गच्चू व उन पाटिया बसेरानगर निवासी दिलशाद सैयद उर्फ बबलू ने अपने फरार साथियों हरियाणा के नूंह जिले के बाजीदपुर निवासी फारुख कुरैशी, सालका गांव निवासी अजरु मेव, डालाबास गांव निवासी मुस्तिकीन मेव व उत्तरप्रदेश के मथुरा जिले के बीसंभरा निवासी मुस्तकीन के साथ मिल कर चोरी की वारदात को अंजाम दिया था।

बदमाश शुक्रवार को रात 12 से 4 बजे के दौरान एटीएम की केबिन में घुसे थे।
बदमाश शुक्रवार को रात 12 से 4 बजे के दौरान एटीएम की केबिन में घुसे थे।

एक कार में आए आरोपियों ने स्थानीय दिलशाद की मदद से पांडेसरा जीआइडीसी गणेशनगर में जगदम्बा इंडस्ट्रियल स्थित स्टेट बैंक के एटीएम की रेकी की। उसके बाद रात दो बजे वारदात को अंजाम दिया। एटीएम सेन्टर में लगे सीसीटीवी कैमरों पर फोम स्प्रे करके उसे बंद कर दिया। उसके बाद गैस कटर की मदद से मशीन का काटा और कैश ट्रै से 31.31 लाख रुपए नकद चुरा कर फरार हो गए थे। सुबह चार बजे मुंबई से स्थित एटीएम सिक्युरिटी के कंट्रोल रूम से एटीएम का संचालन करने वाली एजेन्सी के कर्मचारी को खबर मिलने पर उन्होंने पुलिस को खबर की। कर्मचारी उधना गांधीनगर निवासी भूपेन्द्र कुमार ने प्राथमिकी दर्ज करवाई है।

जिस तरिके से चोरी की घटना हुई थी। उससे पुलिस को इसमें मेवाती गिरोह का हाथ होने की आशंका थी। घटनास्थल की छानबीन में मिले सुरागों के आधार पर पुलिस ने मुखबिरों को सतर्क किया और खोजबिन में जुट गई। मुखबिर से पुख्ता सूचना मिलने पर पुलिस की अलग अलग टीमों ने दिलशाद और फिर जाकिर कुरैशी को धर दबोचा। पुलिस ने उनके फरार साथियों की तलाश के लिए एक टीम को सक्रिय किया है।

खबरें और भी हैं...