पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • 40 Trains To Be Run In The Name Of Clones ... 32% From The Sleeper Of Original Trains, 7% More Fare Than AC

द अर्निंग ट्रेन:क्लोन के नाम पर चलाई जाएंगी 40 ट्रेनें... मूल ट्रेनों के स्लीपर से 32%, एसी से 7% ज्यादा किराया

सूरत4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
क्लोन ट्रेन: ऐसी होगी ताप्ती
  • महंगा हमसफर: 20 में से 19 जोड़ी क्लोन ट्रेन में लगेंगे हमसफर के रेक
  • रेलवे का दावा: वेटिंग क्लीयरिंग करेंगी क्लोन ट्रेन
  • हकीकत: टिकट अलग से लेना होगा, स्लीपर नहीं मिलेगा

देशभर में 21 सितंबर से 20 जोड़ी यानी 40 ट्रेनें चलेंगी। रेलवे कह रही है कि इन्हें मूल ट्रेनों की वेटिंग क्लीयरिंग के लिए चलाया जा रहा है, लेकिन हकीकत यह है कि ये कमाई के लिए चलाई जा रही हैं। यह निजीकरण की तरफ एक और कदम भी लग रहा है, क्योंकि क्लोन ट्रेनों का उसकी मूल ट्रेन से कोई लेना-देना नहीं है। इन ट्रेनों में स्लीपर कोच नहीं होंगे, बल्कि ये पूरी एसी ट्रेन होंगी। 20 में से 19 जोड़ी ट्रेनें हमसफर रेक व एक जोड़ी जनशताब्दी रेक के साथ चलेंगी।

इनका किराया मूल ट्रेनों के स्लीपर से 32% (तीन गुना) और एसी से 7 प्रतिशत ज्यादा होगा। इनका स्टापेज भी कम होगा। रेलवे बोर्ड ने सभी जोनल रेलवे को पत्र भेजकर क्लोन ट्रेनों के संबंध में दिशानिर्देश दिए हैं। 20 जोड़ी क्लोन ट्रेनों में से पांच जोड़ी ट्रेनें गुजरात से होकर चलेंगी। इनमें से एक ट्रेन सूरत से छपरा के बीच यानी ताप्ती गंगा की क्लोन होगी। यह ट्रेन ताप्ती गंगा से एक घंटे पहले छूटेगी।

डिमांडिंग रूटों व ज्यादा वेटिंग पर चलेंगी क्लोन

रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि ये क्लोन ट्रेनें उन रूट पर चलाई जाएंगी, जिन पर चल रहीं मौजूदा ट्रेनों में अभी भारी वेटिंग चल रही है। ये डिमांडिंग रूट भी हैं। मूल ट्रेनों से एक या डेढ़ घंटे पहले ये छूटेंगी। इनका कम से कम हॉल्ट होगा और ये ट्रेनें सुपरफास्ट ट्रेनें होंगी। यात्रियों को इन ट्रेनों की अलग से बुकिंग करानी पड़ेगी। इससे मूल ट्रेनों में वेटिंग घट जाएगी। इसकी बुकिंग जल्द शुरू कर दी जाएगी।

रेक: स्लीपर नहीं पूरी तरह एसी वाली हमसफर ट्रेन क्लोन बनेगी

रेलवे बोर्ड (कोचिंग) के डिप्टी डयरेक्टर राजेश कुमार ने सभी रेलवे जोन के जनरल मैनेजर को पत्र भेजकर कहा है कि 21 सितंबर से कुल 20 जोड़ी क्लोन स्पेशल ट्रेनें चलेंगी। ये क्लोन स्पेशल ट्रेनें पूरी तरह से आरक्षित होंगी। इसके लिए कुछ दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। 19 जोड़ी ट्रेनें हमसफर रेक के साथ चलेंगी। इनमें 18 कोच होंगे। 19 जोड़ी क्लोन स्पेशल ट्रेनों का किराया हमसफर ट्रेन के किराए पर आधारित होंगे। क्लोन ट्रेनों की एडवांस बुकिंग 10 दिनों की होगी। एक क्लोन स्पेशल 04251 /52 लखनऊ-दिल्ली ट्रेन 22 कोच के साथ चलेगी, जिसमें जनशताब्दी चेयर कार रेक जोड़े जाएंगे। रेलवे के मुताबिक इसका किराया जनशताब्दी एक्सप्रेस की तर्ज पर होगा।

किराया: सूरत से छिवकी तक सफर के ~1695 लग सकते हैं

मौजूदा समय में चल रही ट्रेनों के मुकाबले क्लोन ट्रेन का किराया महंगा होगा। इनका किराया हमसफर ट्रेन के बराबार होगा। इनमें हमसफर के वातानुकूलित कोच होंगे। इसके लिए अगर यात्री मूल ट्रेन के बजाय क्लोन में बुकिंग लेगा तो उसे ज्यादा किराया चुकाना पड़ेगा। उदाहरण के लिए ताप्ती गंगा एक्सप्रेस का स्लीपर किराया छिवकी तक 600 रुपए है, जबकि थर्ड एसी का किराया 1500 रुपए है, लेकिन कोरोना से पहले बांद्रा-सहरसा के बीच चल रही हमसफर का किराया इसी गंतव्य तक 1695 रुपए था। यही किराया अब क्लोन स्पेशल ट्रेनों में लिया जाएगा। अभी ये किराया डायनैमिक होगा या नहीं इसपर निर्णय नहीं लिया गया है। अगर डायनैमिक हुआ तो सफर और भी महंगा होगा।

शेड्यूल: सूरत से छपरा तक चलेगी पहली ताप्ती गंगा की क्लोन ट्रेन

09045 /46 सूरत छपरा ताप्ती गंगा के लिए जिस क्लोन ट्रेन का शेड्यूल तैयार किया गया है उसे 09065 /66 सूरत-छपरा सुपरफास्ट क्लोन ट्रेन नाम दिया गया है। शेड्यूल के अनुसार यह ट्रेन ताप्ती गंगा से डेढ़ घंटे पहले रवाना होगी। हर सोमवार यह ट्रेन सूरत से सुबह 8.30 बजे चलेग और अगले दिन मंगलवार दोपहर 2.30 बजे छपरा पहुंचेगी। वापसी में यह ट्रेन हर बुधवार छपरा से सुबह 8.30 बजे चलेगी और अगले दिन गुरुवार को दोपहर 2.45 बजे सूरत पहुंचेगी। यात्रा के दौरान ये ट्रेन सूरत से भुसावल, इटारसी, जबलपुर, प्रयागराज छिवकी, वाराणसी, शाहगंज स्टेशन पर ठहरेगी। इस क्लोन ट्रेन का प्राइमरी मेंटेनेंस सूरत में ही होगा। इसमें कुल 18 कोच होंगे।

ऐसी रहेगी क्लोन यात्रा

वर्तमान में चल रही स्पेशल ट्रेनों में से जिसकी वेटिंग लिस्ट बहुत ज्यादा होगी, उसके लिए एक क्लोन ट्रेन की व्यवस्था की जाएगी। इस ट्रेन का नंबर अलग भी होगा और वह मूल ट्रेन के प्रस्थान से एक-डेढ़ घंटे पहले चलेगी। कहीं-कही बाद में भी चलाने का प्रावधान है। क्लोन ट्रेनें भी उसी रूट पर चलेंगी और उसी प्लेटफॉर्म पर ठहरेंगी, जिस पर मूल ट्रेन चलेगी। ये वेटिंग लिस्ट वाले यात्रियों को लेकर जाएंगी। इससे वेटिंग यात्री लगभग उसी समय पर अपने गंतव्य स्थान तक पहुंच सकेंगे। खास बात यह है कि इसका किराया हमसफर जितना देना पड़ेगा।

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन ने इस योजना का किया था ऐलान

रेलवे बोर्ड चेयरमैन वीके यादव ने डिमांडिंग रूटों पर क्लोन ट्रेन चलाने का ऐलान किया था। उन्होंने कहा था कि अभी चल रही सभी ट्रेनों की मॉनिटरिंग करके इस बात का पता लगाएंगे कि किन ट्रेनों में वेटिंग लिस्ट ज्यादा लंबी है। स्पेशल ट्रेनों के लिए जब भी जरूरत होगी, जहां भी वेटिंग लिस्ट लंबी होगी, हम मूल ट्रेन के बाद उसी तरह की एक और क्लोन ट्रेन चलाएंगे, ताकि वेटिंग लिस्ट के यात्री उसमें यात्रा कर सकें। ऐसे में वेटिंग लिस्ट वाले यात्रियों के लिए यात्रा करना आसान हो जाएगा।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें