• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • 44 Porters Above The Age Of 60 Told The Minister Of State For Railways Do Not Take The Buckle, Give It To Our Children

कुलियों का दर्द:60 वर्ष से ऊपर के 44 कुलियों ने रेल राज्यमंत्री से कहा- बक्कल न लें, हमारे बच्चों को दे दें

सूरत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कुलियों ने कहा- हमारी नई पीढ़ी इस काम के लिए तैयार बैठी है

सूरत रेलवे स्टेशन पर गुरुवार को 60 वर्ष के ऊपर उम्र वाले 44 कुलियों ने रेल राज्यमंत्री दर्शना जरदोष से कहा कि उनके बक्कल उनके बच्चों को दे दिए जाएं, ताकि घर में रोजगार बना रहे। उन्होंने कहा कि वर्षों से हम कुली यात्रियों का बोझ उठा कर अपनी आजीविका चला रहे हैं।

अब हम उम्र की उस दहलीज पर है जहां बोझ उठा पाना मुश्किल है। ऐसे में हमारी नई पीढ़ी इस काम के लिए तैयार बैठी है। वर्तमान में सूरत स्टेशन पर लगभग 250 कुली काम कर रहे हैं, जिन्हें बक्कल दिया गया है। कुली वेलफेयर कमेटी ने कहा कि ऐसे कुली जो उम्रदराज हो चुके हैं वे बोझ उठाने की स्थिति में नहीं हैं। उनके बक्कल ट्रांसफर करने की बजाय उनके बच्चों को दे दिए जाएं। कमेटी ने कहा कि स्थानीय रेल अधिकारियों से इस बारे में कई बार कहा लेकिन हर आश्वासन देकर इसे टाल दिया। दर्शना जरदोष ने कुलियों की इस मांग को संज्ञान में लिया है। अधिकारियों ने कहा कि हम जल्द ही इस पर निर्णय लेंगे और कुलियों को इसके संदर्भ में जानकारी देंगे।

खबरें और भी हैं...