कोर्ट का फैसला:पति की हत्या के मामले में 10 साल सजा काटने के बाद 50 साल की महिला को निर्दोष बरी किया गया

अहमदाबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कच्छ में पति काे मौत के घाट उतारने के आरोपी में जेल में सजा काट रही पत्नी के मामले की सुनवाई के दौरान गुजरात हाईकोर्ट ने महत्वपूर्ण फैसला सुनाया है। पति की हत्या करने के बात कबूल करने के दावे के साथ हुई शिकायत के आधार पर आजीवन कैद की सजा सुनाई गई थी। जबकि पत्नी के खिलाफ लगाए गए आरोपों के मद्देनजर कोर्ट में पूख्ता सबूत नहीं पेश करने पर कोर्ट ने पत्नी के फेवर में फैसला सुनाया है।

इसलिए 10 साल तक जेल की सजा काट रही पत्नी को जेल से रिहा कर दिया जाएगा। वर्ष 2011 में कच्छ जिले के भूज में पत्नी गृहक्लेश के कारण अपने ही पति को 32 बार घांव मारकर मौत के घाट उतारने का आरोप लगा था, जिस संदर्भ में मृतक के दामाद ने अपनी सास यानि की मृतक की पत्नी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी।

भूज सेशंस कोर्ट ने पत्नी से बरामद चाकू और खून से सने कपड़े पाए थे। इसके बाद पुलिस की ओर से भी दावा जताया गया था कि महिला ने पुलिस थाने में पत्नी की हत्या करने की बात कबूल की थी जिसके आधार पर सेशंस कोर्ट ने मृतक की पत्नी को दोषी ठहराते हुए आजीवन कैद की सजा सुनाई थी।

खबरें और भी हैं...