• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • 62 year old corona positive working in RKT, health department is looking for people exposed to them

सूरत / आरकेटी में काम करने वाले 62 वर्षीय बुजुर्ग कोरोना पॉजिटिव, इनके संपर्क में आए लोगों की स्वास्थ्य विभाग कर रहा तलाश

एक परिवार ने घर के बाहर रंगोली से लक्ष्मण रेखा खींच घर से बाहर नहीं निकलने का संदेश दिया। एक परिवार ने घर के बाहर रंगोली से लक्ष्मण रेखा खींच घर से बाहर नहीं निकलने का संदेश दिया।
X
एक परिवार ने घर के बाहर रंगोली से लक्ष्मण रेखा खींच घर से बाहर नहीं निकलने का संदेश दिया।एक परिवार ने घर के बाहर रंगोली से लक्ष्मण रेखा खींच घर से बाहर नहीं निकलने का संदेश दिया।

  • कपड़ा मार्केट में कोरोना के प्रवेश के बाद व्यापारी और कर्मचारी दहशत में आए
  • कोलकाता से लौटा था व्यक्ति, जांच के बाद बुधवार को रिपोर्ट पॉजिटव आई थी

दैनिक भास्कर

Mar 26, 2020, 07:01 PM IST

सूरत. शहर में एक और कोरोना पॉजिटिव केस के सामने आने से सलाबतपुरा स्थित राधा कृष्ण टेक्सटाइल मार्केट में काम करने वाले लोगों में हड़कंप मच गया है। हालांकि प्रशासन की तरफ से लोगों को पैनिक नहीं होने और सभी होम क्वारैंटाइन करने को कहा है। इसके अलावा आरकेटी मार्केट से जुड़े सभी व्यापारियों, कर्मचारियों व वहां आने-जाने वालों की जांच की बात कही है। बता दें कि आरकेटी मार्केट में काम करने वाले 62 वर्षीय बुजुर्ग की सैंपल पॉजिटिव पाई गई है। मनपा स्वास्थ्य विभाग की टीम बुजुर्ग के संपर्क में आए हुए लोगों की पहचान कर क्वारैंटाइन कर रही है। बुजुर्ग हाल में ही कोलकाता से आए थे। पर्वत पाटिया निवासी 62 वर्षीय बुजुर्ग को 23 मार्च को समस्या शुरू हुई और लक्षण मिलने पर सिविल अस्पताल में भर्ती किया गया था। सैंपल लैब भेजे गए थे। बुधवार को रिपोर्ट पॉजिटिव आई। अब तक आए कुल 8 केस पॉजिटिव आए हैं, जिसमें से एक की मौत हो चुकी है, जबकि एक मरीज गंभीर है।

बुधवार को तीन रिपोर्ट आईं निगेटिव
वही बुधवार को तीन रिपोर्ट नेगेटिव भी मिली है, इसमें अस्पताल में भर्ती 38 वर्षीय युवक, 67 वर्षीय बुजुर्ग और 19 वर्षीय युवती शामिल हैं। वहीं 8 रिपोर्ट पेंडिंग हैं। अब तक 35 मामले निगेटिव मिले हैं 9 सैंपल की जांच पेंडिंग है। वहीं बुधवार को छह सस्पेक्टेड मरीजों को अस्पताल में भर्ती किया गया। इनमें से गोपीपुरा निवासी 55 वर्षीय अडाजन निवासी 30 वर्षीय युवक जो 19 मार्च को महाराष्ट्र आया था। पालनपुर निवासी 67 वर्षीय बुजुर्ग जो एक निजी अस्पताल में भर्ती है। कैलाश नगर निवासी 29 वर्षीय युवक कतारगाम निवासी 25 वर्षीय महिला ओर उधना निवासी 39 वर्षीय युवक तीनों महावीर अस्पताल में हेल्थ वर्कर हैं। लक्षण मिलने पर सभी को अस्पताल में भर्ती किया गया है। फिलहाल कोराेना को लेकर पूरे शहर में एहतियात बरती जा रही है। हालांकि कुछ लोग अभी भी लापरवाही बरत रहे हैं, जिसका खामियाजा सभी को भुगतना होगा।

आरकेटी मार्केट में रोज 20 हजार लोगों की आवाजाही, 5 हजार को भेजा मैसेज

रिंग रोड स्थित टेक्सटाइल मार्केट में प्रतिदिन लाखों लोग आते हैं। 2 लाख से अधिक लेबर और 65 हजार कपड़ा व्यापारी हैं। इसके अलावा बाहर की मंडी से 20 हजार से अधिक व्यापारी आते हैं। जिस आरकेटी मार्केट में 62 वर्षीय बुजुर्ग में कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है वहां करीब 3 हजार से अधिक दुकानें हैं और व्यापारी, लेबर समेत प्रतिदिन 20 हजार से अधिक लोगों की आवाजाही होती है। इस कारण सूरत महानगर पालिका की समस्या बढ़ गई है। म्युनिसिपल कमिश्नर बंछानिधि पाणि ने अपील करते हुए कहा कि पिछले 15 दिन में इस मार्केट में जाने वाले या उनके संपर्क में आने वाले स्वयं ही 14 दिन होम क्वरैंटाइन में रहें। ताकि इसको फैलने से रोका जा सके। बताया गया है कि कोरोना पॉजिटिव पाए गए बुजुर्ग के लड़के का एजेंसी का काम है। जो फिनिश्ड का काम करता है। कपड़ा मार्केट में अलग-अलग व्यापारियों से मिलना होता है। बड़ी संख्या में लोग उसके संपर्क में भी आए होंगे। ऐसे में जो लोग संपर्क में आए हैं उन्हें सावधानी बरतनी है। कमिश्नर ने ऐसे सभी लोगों को खुद से होम क्वारैंटाइन करने को कहा है और लक्षण पाए जाने पर स्वास्थ्य विभाग से संपर्क करने को बोला है।

सभी लोगों से संपर्क करना मुश्किल होगा: मार्केट प्रमुख
आरकेटी के अध्यक्ष जयलाल ने बताया कि जिनका पॉजिटिव केस आया है वह आरकेटी में एक व्यापारी के यहां पार्ट टाइम अकाउंटेंट का काम करते हैं। 18 तारीख को वह अकाउंटेंट के यहां गए थे। टेक्सटाइल मार्केट में कोरोना पॉजिटिव पिता और संदेहशील पुत्र के संपर्क में कपड़ा मार्केट में कौन कौन आए हैं वह जानना नामुमकिन है। क्योंकि बाहर की मंडी से भी लोग आते हैं। इसके अलावा हजारों की आवाजाही होती है।

डोर टू डोर सर्विलान्स, 42,34,269 लोगों की जांच, 3771 होम क्वारैंटाइन किए

सूरत महानगर पालिका द्वारा कोरोना वायरस फैलने से पहले की सावधानी बरती जा रही है। पालिका द्वारा बनाई गई डोर टू डोर सर्विलान्स की 591 टीम ने 42 लाख 34 हजार 269 की जांच की। इससे पहले मंगलवार को एक दिन में 7 लाख लोगों से संपर्क किया था। साथ ही जहां सर्दी, खांसी और बुखार के मामले थे वहां दोबारा सर्वे भी शुरू किया है। इसके अलावा अब तक 3771 होम क्वरैंटाइन किया गया, जबकि 68 लोगों को सरकारी और 3 लोगों को प्राइवेट में क्वरैंटाइन किया गया।


अब तक कुल 3842 लोगों को क्वरैंटाइन किया जा चुका है। इसके अलावा महानगरपालिका ने बुधवार को रास्ते पर थूकने वाले 3 लोगों से 1500 रुपए का जुर्माना वसूला गया। सूरत महानगर पालिका ने होम क्वारैंटाइन और क्वारैंटाइन लोगों के लिए बायोमेडिकल वेस्ट की व्यवस्था कर ली है, जिसमें पूरा एहतियात बरता जाता है। कमिश्नर ने बताया कि बुधवार को शहर के 425 जगहों को डिसइन्फेक्शन किया गया। इस तरह अब तक शहर के कुल 3 हजार 950 स्थल को मनपा द्वारा डिसइन्फेक्शन किया जा चुका है ताकि कोरोना वायरस को रोका जा सके।

कोविड-19 ट्रैकर ऐप 2282 लोगों ने डाउनलोड किया
पालिका के ट्रिपल टी प्लान अंतर्गत कोविड-19 ट्रैकर एप अब तक 2282 लोगों ने डाउनलोड किए हैं। इस ऐप के जरिए सूरत महानगर पालिका होम क्वरैंटाइन किए गए लोगों पर नजर रख रही है। इसके अलावा बुधवार को 169 लोगों ने डिक्लेयर किया। अब तक कुल 981 सेल्फ डिक्लेरेशन कर चुके हैं। पालिका कमिश्नर ने कहा कि विभिन्न एनजीओ और एजेंसी मास्क, सैनेटाइजर और मेडिकल इक्यूपमेंट देने के लिए फोन कर रहे हैं। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना