पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • A Teacher Commit Suicide In School On The Occasion Of Teachers Day In Una City Of Gujarat

गुजरात में शिक्षक दिवस पर ही शिक्षक ने लगाई फांसी:स्कूल में फंदे पर लटका मिला शव, सुसाइड नोट में लिखा- नौकरी से त्रस्त हूं, अधिकारियों के भी लिखे नाम

ऊना (गुजरात)21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गिर-सोमनाथ गिर गढडा तालुका के थोरडी गांव के स्कूल के शिक्षक घनश्यामभाई की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
गिर-सोमनाथ गिर गढडा तालुका के थोरडी गांव के स्कूल के शिक्षक घनश्यामभाई की फाइल फोटो।

5 सितंबर को शिक्षक दिवस पर ही गिर-सोमनाथ गिर गढडा तालुका के थोरडी गांव की स्कूल में एक शिक्षक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर लेने की घटना सामने आई है। इस घटना के बाद शिक्षा विभाग सहित गांव में शोक की लहर दौड़ गई है। घटना की सूचना पाते ही पुलिस ने स्थल पर पहुंचकर आगे की जांच शुरू कर दी है। पुलिस जांच में शिक्षक के शव के पास एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है।

जिसमें मृतक शिक्षक ने टीपीओ (तालुका प्राथमिक शिक्षा अधिकारी) और एक प्रिंसिपल से परेशान होकर अपनी जीवन लीला समाप्त करने का सनसनीखेज खुलासा किया है। इस मामले में पुलिस जांच में जुटी हुई है। मृतक की बेटी ने बताया कि आत्महत्या करने से पहले उसके वाट्सअप पर पिताजी का सुसाइड नोट मिला था।

मृतक की बेटी ने बताया कि आत्महत्या करने से पहले उसके वाट्सअप पर पिताजी का सुसाइड नोट मिला था।
मृतक की बेटी ने बताया कि आत्महत्या करने से पहले उसके वाट्सअप पर पिताजी का सुसाइड नोट मिला था।

इन लोगों ने मानसिक तौर पर प्रताड़ित करने के बाद मेरे पिता ने ऐसा कदम उठाया है। विश्वभर में 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मनाया गया। जगह-जगह शिक्षक समान गुरुओं का सम्मान किया गया। ऐसे में गिर गढड़ा तालुका के थोरडी गांव में शिक्षक ने अपने स्कूल में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जानकारी के अनुसार दोपहर के समय शिक्षक घनश्याम अमरेलिया ने स्कूल में पंखे से रस्सी के जरिए फांसी लगा ली।

सुसाइड नोट किसने लिखा? जांच में जुटी पुलिस
पुलिस ने जांच के दौरान मृतक के नजदीक एक सुसाइड नोट बरामद की है। जिसमें मृतक घनश्यामभाई ने दो टीपीओ और एक प्रिंसिपल द्वारा उनके पास बड़ी रकम मांगकर परेशान किए जान का जिक्र किया है। जबकि सुसाइड नोट शिक्षक द्वारा ही लिखि गई है या नहीं इसकी जांच पुलिस कर रही है।

पिता को मानसिक परेशान किया गया: बेटी
मृतक शिक्षक की बेटी ने बताया है कि मेरे पिता को मानसिक रूप से परेशान किया जा रहा था। उनका नाम है जयेश गोस्वामी, जयेश राठौड़, गधेसरीया साहेब और झालावाडाभाई ने मानसिक रूप से परेशान करने के बाद मेरे पिता को उन्होंने आत्महत्या के लिए प्रेरित किया है।

डिप्रेशन में थे
पिछले एक महीने से मेरे पिता डिप्रेशन में थे और अकेले ही रहते थे। कुछ लोगों का फोन भी आता था तो वे डर जाते थे। हर बार रुपयों की ही बात करते थे। मुझे रुपए चाहिए मेरे कर्मचारी मुझे परेशान कर रहे है। आत्महतया से पहले उन्होंने वाट्सअप फोटो भी भेजा था। सुसाइड नोट में लिखा है कि इन लोगों ने उन्हें मानसिक रूप से परेशान करने के बाद ही उन्होंने ऐसा कदम उठाया। इस मामले में बेटी ने निष्पक्ष जांच की मांग की है।

खबरें और भी हैं...