• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Adani Group To Set Up Covid Care Center For Corona Mild Patients At Its School In Ahmedabad

कोरोना में मदद:अडाणी ग्रुप अहमदाबाद के स्कूल में खोलेगा 1000 बेड का कोविड केयर सेंटर, मेडिकल ऑक्सीजन भी पहुंचा रहा

अहमदाबाद6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अहमदाबाद स्थित अडाणी विद्या मंदिर स्कूल की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
अहमदाबाद स्थित अडाणी विद्या मंदिर स्कूल की फाइल फोटो।

कोरोना मरीजों के लिए अस्पतालों में बेड न मिलने की खबरों के बीच अडाणी ग्रुप अहमदाबाद के अपने स्कूल में 1000 बेड का कोविड केयर सेंटर बना रहा है। ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडाणी ने सोशल मीडिया पर यह जानकारी दी। इससे पहले, अडाणी ग्रुप देशभर में ऑक्सीजन सप्लाई कर चुका है।

अडाणी गुप ने शुक्रवार को जारी बयान में कहा, 'गुजरात में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए अडाणी ग्रुप ने विद्या मंदिर स्कूल परिसर में कोविड केयर सेंटर खोलने का निर्णय किया है। मरीजों के अलावा इससे उन लोगों को भी राहत मिलेगी, जिन्हें घरों में जगह की कमी के चलते होम आइसोलेशन में परेशानी आ रही है।'

ऑक्सीजन की सप्लाई भी कर रहा है अडाणी ग्रुप
अडाणी समूह कोविड-19 पॉजिटिव मरीजों को मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति भी कर रहा है। 80 टन लिक्विड ऑक्सीजन के साथ 4 आईएसओ क्रायोजेनिक टैंक्स की पहली खेप दमन से मुंद्रा बंदरगाह रवाना कर दी गई है।

अडाणी ग्रुप ने 80 टन लिक्विड ऑक्सीजन के साथ 4 क्रायोजेनिक टैंक्स की पहली खेप दमन से मुंद्रा बंदरगाह रवाना की गई है।
अडाणी ग्रुप ने 80 टन लिक्विड ऑक्सीजन के साथ 4 क्रायोजेनिक टैंक्स की पहली खेप दमन से मुंद्रा बंदरगाह रवाना की गई है।

अडाणी ग्रुप सऊदी अरब से मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन के 5,000 सिलेंडर्स रिजर्व करा रहा है। भारतीय वायु सेना ने दुबई से लिक्विड ऑक्सीजन का परिवहन करने के लिए 12 क्रायोजेनिक टैंक्स लाने के लिए अडाणी ग्रुप के साथ भागीदारी की है। भारतीय वायु सेना इनमें से 6 टैंक्स को भारत ला रही है।

66 दिन में पहली बार नए मरीजों से डिस्चार्ज ज्यादा
कोरोना की दूसरी लहर में पहली बार गुरुवार को कोरोना के नए मरीजों ज्यादा ठीक होने वालों की संख्या रही। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार अहमदाबाद में गुरुवार को 2192 नए मरीज सामने आए हैं। इसकी अपेक्षा 2243 मरीज डिस्चार्ज किए गए। नए मरीजों में शहर के 1836 और ग्रामीण के 356 हैं। अब तक 113082 पॉजिटिव आ चुके हैं।

वहीं, दूसरी ओर डिस्चार्ज होने वालों में शहर के 1890 और ग्रामीण के 353 हैं। अब तक 88,994 मरीज ठीक हो चुके हैं। 23 मरीजों की इलाज के दौरान मौत हुई। इससे मौत का आंकड़ा 1740 तक पहुंच गया है। 22,348 एक्टिव मरीजों का इलाज चल रहा है।