पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • After Marriage, The Father Went On A Bike Ride For 15 Days With His Daughter, Who Was Going To Settle Abroad, Said This Memorable Time Is Important In The Journey Of Life

पिता का अनूठा तोहफा:शादी के बाद विदेश बसने जा रही बेटी संग 15 दिन बाइक राइड पर निकले पिता, बोले- जिंदगी के सफर में ये यादगार समय ही अहम

अहमदाबाद20 दिन पहलेलेखक: विशाल पाटडिया
लेह में लाड़ली प्रियल के साथ प्रकाशभाई।

अहमदाबाद के एक पिता ने बेटी को शादी से पहले ऐसा तोहफा दिया है, जिसकी कसक अमूमन हर बेटी के मन में रहती है, पर वह उसे शब्दों में पिरो नहीं पाती। वह है पिता का उसके लिए दिया गया समय। इसलिए गुजरात के कारोबारी प्रकाश पटेल ने बिटिया प्रियल पटेल के साथ एक पखवाड़े के लिए बाइक से घूमने की योजना बनाई।

इस दौरान वह बेटी प्रियल के साथ सोनमर्ग, लेह, मनाली सहित 1784 किमी बाइक पर ही घूमे। प्रियल शादी के बाद ऑस्ट्रेलिया में ही बस जाएंगी। इसलिए प्रकाशभाई ने इस यादगार सफर का आयोजन किया।प्रियल खुद भी पापा के साथ इस बिताए इस सफर को अहम मानती हैं। उन्होंने बताया ‘ये राइड मेरे लिए जिंदगी के अनमोल पल की तरह है।

यह गाड़ी, बंगला और जेवर से कहीं ज्यादा कीमती है। ऐसा लगता है कि मैंने इस सफर में दोबारा बचपन को जी लिया। जब छोटी थी तो किस तरह पापा से लिपट जाती थी, उनके कंधों पर झूम जाती थी। मैं बाइक पर खड़ी हुई। उन छोटे-छोटे पलों को फिर से महसूस किया।

मेरा मानना है कि हर पिता-बेटी को कुछ इसी तरह स्ट्रॉन्ग क्वालिटी टाइम बिताना चाहिए। पापा ने इन 15 दिनों में मुझे जीवन का फलसफा अपने अंदाज में समझाया। उन्होंने बचपन में कोई परेशानी नहीं होने दी, लेकिन ट्रिप में ये भी बताया कि परेशानी आने पर सामना कैसे करना है। भावुक होकर मां की तरह उन्होंने कई टिप्स शेयर किए, जो मेरे जेहन में ताउम्र रहेंगे।

किसी और को साथ नहीं लिया ताकि फोकस केवल बेटी पर रहे

प्रकाशभाई ने बताया कि बेटी प्रियल की छह महीने में शादी हो जाएगी। इसलिए मैं उसके साथ स्ट्रॉन्ग क्वालिटी टाइम बिताना चाहता था। इसलिए पत्नी और छोटी बेटी को इस बाइक जर्नी में साथ नहीं लिया। ऐसा करता तो परिवार के मुखिया होने के नाते मेरा फोकस प्रियल से हट कर पूरे परिवार पर रहता। मैं यह वक्त सिर्फ प्रियल को देना चाहता था। बाइक पर सफर के दौरान मैंने अपनी जिंदगी के कई अनछुए पहलू भी बेटी के साथ साझा किए। इसके अलावा उसे अनुभव आधारित जिंदगी की अहमियत बताई।

खबरें और भी हैं...