ऑनलाइन क्लास को लेकर बढ़ी तकरार / शिक्षकों ने कहा- अभिभावक टॉवल में थे और रूम में घूम रहे थे; पेरेंट्स बोले- ऑनलाइन क्लास से बच्चों की सेहत पर गलत असर, स्कूल जबरन फीस के लिए ऐसा कर रहे

एक शिक्षिका जब ऑनलाइन क्लास ले रही थी तो एक छात्र के अभिभावक कैमरे के पीछे अभद्र हालत में आ गए। एक शिक्षिका जब ऑनलाइन क्लास ले रही थी तो एक छात्र के अभिभावक कैमरे के पीछे अभद्र हालत में आ गए।
X
एक शिक्षिका जब ऑनलाइन क्लास ले रही थी तो एक छात्र के अभिभावक कैमरे के पीछे अभद्र हालत में आ गए।एक शिक्षिका जब ऑनलाइन क्लास ले रही थी तो एक छात्र के अभिभावक कैमरे के पीछे अभद्र हालत में आ गए।

  • शिक्षा विभाग के आदेश के अनुसार स्कूलों में ऑनलाइन क्लास शुरू हुई हैं
  • अभिभावक की हरकत से नाराज शिक्षिका ने कैमरा बंद किया

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 09:45 AM IST

सूरत. कोरोना संक्रमण की वजह से शिक्षण संस्थान बंद हैं, ऐसे में बच्चों की ऑनलाइन क्लास चल रही हैं। अब इसमें में भी कई प्रकार की गड़बड़ियां सामने आ रही हैं। शिक्षकों और अभिभावकों में क्लासेस को लेकर लगातार तकरार बढ़ रही है। अभिभावकों की मांग है कि ऑनलाइन क्लासेस बंद होना चाहिए। इससे बच्चों की सेहत पर गलत असर पड़ रहा है। वहीं शिक्षकों की शिकायत है कि क्लास के दौरान बच्चों के अभिभावक अभद्र अवस्था में कैमरे के सामने आ जाते हैं। इससे पूरी क्लास को असहज स्थिति का सामना करना पड़ता है। अभिभावकों से अनुरोध किया गया था कि बच्चों को अलग कमरे में बैठाएं, ताकि किसी तरह की समस्या न हो, लेकिन वह इसका पालन नहीं कर रहे हैं। गुजरात के सूरत से अभिभावकों और शिक्षकों के बीच तकरार के दो मामले सामने आए हैं...

पहला मामला: अभिभावक के अभद्र हरकत से शिक्षक ने कैमरा बंद किया

गुजरात के सूरत में एक निजी स्कूलों की ऑनलाइन क्लास चल रही थी।  शिक्षिका जब ऑनलाइन क्लास ले रही थी तो एक छात्र के अभिभावक कैमरे के पीछे अभद्र हालत में आ गए। वह सिर्फ टॉवल में थे और रूम में घूम रहे थे। शिक्षिका ने कई बार छात्र से कहा कि उन्हें कमरे से बाहर जाने के लिए कहें और अलग कमरे में बैठे, लेकिन वह घूमते रहे। इसके बाद शिक्षक ने छात्र को पढ़ाने से रोक दिया और उसे ऑनलाइन पढ़ाई से कट कर दिया।

दूसरा मामला: बच्चों के परिजन बैठकर बात करते हैं
एक अन्य मामले में एक शिक्षक ने शिकायत की है कि जब वह बच्चे को ऑनलाइन पढ़ा रहे थे उस वक्त घर में कई महिलाएं इकट्ठा होकर अपने गांव और लॉकडाउन के बारे में बात कर रही थी। इस दौरान बच्चा भी उस बातचीत में शामिल हो गया और बीच में ही पढ़ाई को रोककर वीडियो चालू करवा चला गया है। बुलाने पर भी न तो कोई ध्यान देता है और न ही परिवार के लोग कुछ कहते हैं। इतना ही नहीं कई अभिभावक यह भी कह देते हैं कि आप पढ़ाई चालू रखो बच्चा खाना खाकर कर बैठेगा। कई बार ऐसा भी जवाब मिलता है है कि अभी बच्चे का मूड नहीं है वह आज नहीं पढ़ेगा।

अभिभावकों ने कहा- घर ही इतना है तो कहा जाएं 
अभिभावकों ने कहा कि हम तो बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाना ही नहीं चाहते हैं फिर भी स्कूल जबरदस्ती पढ़ा रहे हैं और दूसरी बात हमारे पास घर ही इतना है तो फिर कहां जाएं, क्या बच्चे को सड़क पर भेज दें पढ़ाई करवाने के लिए। और स्कूल का जो टाइम टेबल है उस वक्त घर में और भी काम होते हैं तो फिर उन कामों को छोड़कर मात्र इसका इंतजार तो नहीं किया जा सकता कि बच्चे की क्लास चलनी है। वैसे भी बच्चे को ऑनलाइन कुछ समझ तो आता नहीं है फिर भी स्कूल जबरन फीस के लिए ऐसा कर रहे हैं।

बंद करवाने के लिए चल रहा है आंदोलन

शिक्षा विभाग की तरफ से दिए गए आदेश के अनुसार स्कूलों में ऑनलाइन क्लास शुरू किया गया है, जिसका अभिभावक संगठन लगातार विरोध कर रहे हैं। अब तक जिला शिक्षा अधिकारी और शिक्षा मंत्री को भी पत्र लिखा जा चुका है। इसमें कहा गया है कि स्कूलों की तरफ से चलाए जा रहे ऑनलाइन क्लास को बंद करवाया जाए, क्योंकि बच्चों की हेल्थ पर इससे असर पड़ रहा है और बच्चों की आंख में काफी समस्या आने की संभावना है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना