समस्या:नए जीएसटी नंबर के आवेदन बढ़े, लेकिन 50% हो रहे रद्द

सूरत9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लंबे समय बाद कारोबार सामान्य हुआ है। इससे नया जीएसटी नंबर लेने की होड़ लगी हुई है। फर्जी बिलिंग से अधिकारी भी सतर्क हो गए हैं, इसलिए नए आवेदन को खारिज करने का अनुपात भी बढ़ गया है। घर के एड्रेस से कारोबार करने के अधिकांश आवेदन अस्वीकार किए जा रहे हैं। ई-कॉमर्स का कारोबार करने वाले घर के एड्रेस से जीएसटी नंबर के लिए आवेदन कर रहे हैं।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शहर के सीमावर्ती क्षेत्रों में नए जीएसटी नंबर लेने वालों की संख्या अधिक है, इसलिए आवेदन बढ़ गए हैं। पहले से विकसित इलाकों से बहुत कम आवेदन आ रहे हैं। पहले रोज 300 आवेदन आते थे जो अब बढ़कर 500 हो गए हैं। सूरत जीएसटी बार एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रशांत शाह ने बताया कि घर से कारोबार न करने की कोई गाइडलाइन नहीं है। इसके बावजूद आवेदन खारिज हो रहे हैं।

खबरें और भी हैं...