पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भगवा सूरत पर 'आप' की निगाहें:साल 2015 से भी बड़ी जीत, छह मनपा की 576 में से 483 सीटों पर भाजपा की जीत; कांग्रेस को सिर्फ 55

सूरत12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भगवा सूरत पर आप की निगाहें - Dainik Bhaskar
भगवा सूरत पर आप की निगाहें
  • भाजपा 93 और आप को 27 सीटें
  • 26 साल बाद कांग्रेस खाता भी नहीं खोल पाई

गुजरात की अहमदाबाद-वडोदरा-सूरत-राजकोट-भावनगर और जामनगर में भाजपा ने अपनी सत्ता बरकरार रखी है। कांग्रेस को इन चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ा। कुल 576 में से 575 सीटों में से भाजपा ने 483 सीटों पर कब्जा कर लिया। कांग्रेस को 55 सीट से संतोष करना पड़ा।

अहमदाबाद की एक सीट निर्विरोध घोषित होने से रविवार को 575 सीटों के लिए मतदान हुआ था। मंगलवार को मतगणना शुरू होने पर सबसे चौंकाने वाले परिणाम 120 सदस्यीय सूरत महानगर पालिका में सामने आए-जहां कांग्रेस का खाता भी नहीं खुला। आम आदमी पार्टी ने गुजरात की चुनावी राजनीति में सफल एंट्री करते हुए रिकॉर्ड 27 सीटों पर जीत दर्ज की। जामनगर महानगर पालिका में बसपा को भी तीन सीटें मिलीं।

हीरानगरी के रास्ते गुजरात में ‘आप’ की एंट्री

केजरीवाल करेंगे गुजरात का दौरा, 26 फरवरी को सूरत में रोड-शो

आप ने सूरत मनपा में अपने पहले चुनाव में धमाकेदार एंट्री करते हुए 27 सीटों पर जीत दर्ज की है। इस सफलता के बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के सूरत दौरे पर आने की संभावना है। 26 फरवरी को केजरीवाल का यह दौरा हो सकता है। मनपा के छह वॉर्ड में आप का पैनल जीता है। मतलब सभी चार सीटों पर सिर्फ आप के प्रत्याशी विजय रहे। भाजपा-कांग्रेस सहित अन्य किसी को सफलता नहीं मिली। सूरत मनपा के वॉर्ड संख्या 2,3,4,5,7,8,16 और 13 में आप प्रत्याशियों को विजय मिली है। वॉर्ड नंबर-8 में एक प्रत्याशी जीता जबकि वॉर्ड-7 में आप को एक सीट से संतोष करना पड़ा।

  • 2015 की तुलना में भाजपा की 63 सीटें बढ़ीं,कांग्रेस की 90 घट गई
  • गुजरात में दो नई पार्टियों की एंट्री; सूरत में आप जबकि अहमदाबाद में ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम का प्रवेश

सोने की थाली में लोहे का कील: पाटिल

सूरत में ‘आप’ की जीत से झल्लाए प्रदेश भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पाटिल ने कहा कि सोने की थाली में लोहे का कील ठोंक दिया गया है। इसका भी रास्ता निकालूंगा। गुजरात की 6 महानगर पालिकाआें में भाजपा की भव्य विजय हुई है और कांग्रेस का पूरी तरह से सफाया हो गया है। हालांकि सूरत में आम आदमी पार्टी की जीत उल्लेखनीय है। अहमदाबाद के खानपुर में भाजपा कार्यालय पर जीत का जश्न शुरू हाे गया है।

संभावित मेयर?
अहमदाबाद: हिमांशु वाला, डॉ. चंद्रकांत चौहान और राजेंद्र सोलंकी, राजकोट: डॉ. अल्पेश मोरजरिया, सूरत: दर्शिनी कोठिया, हेमालीबेन बोघावाला, भावनगर: वर्षाबा परमार, कीर्तबेन दाणीधरिया और योगिताबेन त्रिवेदी, जामनगर: बीनाबेन कोठारी, वडोदरा: डॉ. हितेंद्र पटेल, मनोज पटेल, केयूर रोकडिया और पराक्रमसिंह जाडेजा

धन्यवाद गुजरात!

राज्यभर में म्युनिसिपल चुनावों के परिणाम साफ दिखाते हैं कि लोगों ने विकास और सुशासन की राजनीति पर अपना भरोसा जताया है। विश्वास जताने के लिए राज्य के लोगों का आभारी हूं।

सूरत में आम आदमी को क्यों मिली सफलता

आप का गुजरात में राज्यस्तर का कोई ऐसा चेहरा नहीं है जो राज्यव्यापी अपील पैदा करता हो। ऐसे में सूरत में आप को सफलता क्यों मिली। जानकारों का कहना है कि पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति (पास) और कांग्रेस के बीच खींचदान के चलते कांग्रेस के पास से जुड़े लोग आप से जुड़ कर चुनाव लड़े। सौराष्ट्र पाटीदार समाज बहुल क्षेत्र में इन कार्यर्ताओं ने आप प्रत्याशियों के समर्थन में जबरदस्त माहौल बनाया। इसका परिणाम सामने है।

विकल्प मिला

गुजरात के लोग भाजपा और कांग्रेस की राजनीति से त्रस्त थे। गुजरात के लोगों को एक विकल्प चाहिए था और आम आदमी पार्टी के रूप में उनको यह विकल्प मिला है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें