पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Over Rs 13,500 Crore Invested In 501 Projects In Gujarat In Three Months, Ahmedabad Tops With Rs 6,285 Crore

रियल एस्टेट:गुजरात में तीन महीने में 501 प्रोजेक्ट्स में 13,500 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश हुआ, 6,285 करोड़ के साथ अहमदाबाद टॉप पर

अहमदाबाद7 दिन पहलेलेखक: विमुक्त दवे
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो।

कोरोना काल के बाद गुजरात का रियल एस्टेट मार्केट फिर से रफ्तार पकड़ने लगा है। गुजरात रियल एस्टेट रेगुलेटरी अथॉरिटी (रेरा) की वेबसाइट पर उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक, वित्तीय वर्ष 2021-22 के आखिरी तीन महीनों में बिल्डर्स और डेवलपर्स ने 13508 करोड़ रुपए के आवासीय और कॉमर्शियल प्रोजेक्ट्स लॉन्च किए हैं।

अप्रैल-जून के दौरान लॉन्च किए गए कुल प्रोजेक्ट्स में से अकेले अहमदाबाद में ही 6285 करोड़ के प्रोजेक्ट्स शुरू हुए हैं। रियल एस्टेट से जुड़े लोगों के मुताबिक कोविड के बाद से लोगों की मानसिकता में बदवाल आया है। अब लोग छोटे घरों की बजाए बड़े घर खरीद रहे हैं। इसी के चलते डेवलपर्स भी जोखिम लेने का साहस जुटा रहे हैं।

किस शहर में कितने प्रोजेक्ट्स शुरू हुए? (संदर्भ : RERA)

शहरआवासकॉमर्शियलमिक्सप्लॉटिंग
अहमदाबाद5023783
वडोदरा5711344
सूरत201196
राजकोट371592
गांधीनगर123205
भावनगर7295
वलसाड5250
अन्य1911234

पिछले साल की तुलना में इस साल अच्छा इंवेस्टमेंट

दैनिक भास्कर से हुई बातचीत में अहमदाबाद के अराइज ग्रुप के वर्षिश पटेल ने रियल एस्टेट में हो रहे इंवेस्टमेंट के बारे में बताया कि कोरोना आने के बाद बड़े घरों की डिमांड बढ़ी है। 1-बीएचके में रहने वाले लोग 2-बीएचके में शिफ्ट हो रहे हैं। इसकी वजह है कि कोरोना काल में सबसे ज्यादा उन्हीं लोगों को दिक्कतें उठानी पड़ी, जिनके घर छोटे थे। इसके अलावा अपर मिडिल क्लास फ्लैट से बंगले या फार्म हाउस में शिफ्ट हो रहे हैं। इस बदलाव के चलते बिल्डर्स नए प्रोजेक्ट्स लॉन्च करने का जोखिम उठा रहे हैं। इसके अलावा पिछले साल की तुलना में इस साल मकानों की डिमांड ज्यादा है। इससे रियल एस्टेट में अच्छा निवेश भी आ रहा है।

अपर मिडिल क्लास फ्लैट से बंगले या फार्म हाउस में शिफ्ट हो रहे हैं।
अपर मिडिल क्लास फ्लैट से बंगले या फार्म हाउस में शिफ्ट हो रहे हैं।

47% इंवेस्टमेंट सिर्फ अहमदाबाद में ही
गुजरात रेरा की वेबसाइट के मुताबिक, वित्तीय वर्ष 2021-22 में अप्रैल से अभी तक 13,508 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट्स शुरू हो चुके हैं। इसमें 6285 करोड़ रुपए के इंवेस्टमेंट के साथ अहमदाबाद टॉप पर है। इसके बाद वडोदरा 2500 करोड़, सूरत 1711 करोड़ और 1135 करोड़ रुपए के इंवेस्टमेंट के साथ गांधीनगर चौथे नंबर पर है। वहीं, पूरे गुजरात की बात करें तो 4,444 करोड़ रुपए रेसिडेंशियल और 6,919 करोड़ के मिक्स (आवासीय और कॉमर्शियल) प्रोजेक्ट्स लॉन्च हुए हैं। कॉमर्शियल में 1962 करोड़ रुपए का निवेश आया है।

गांधीनगर में अच्छी सुविधाओं के चलते अहमदाबाद के लोग यहां शिफ्ट हो रहे हैं।
गांधीनगर में अच्छी सुविधाओं के चलते अहमदाबाद के लोग यहां शिफ्ट हो रहे हैं।

पुराने अहमदाबाद के लोग गांधीनगर में शिफ्ट हो रहे
गांधीनगर के नक्षत्र ग्रुप के उत्पल पटेल बताते हैं कि अहमदाबाद के शाहीबाग, मणिनगर जैसे पुराने इलाकों में रहने वाले लोग अपने पुराने मकानों को बेचकर गांधीनगर शिफ्ट हो रहे हैं और इस वजह से गांधीनगर में कई नए प्रोजेक्ट शुरू हो गए हैं। इन्फोसिटी और गिफ्टसिटी में आईटी में काम करने वाले लोग गांधीनगर में विशेषकर सरगासन, रायसन इलाकों के आसपास घर खरीद रहे हैं। क्योंकि PDPU, GNLU और IIT होने के चलते अब गांधीनगर उच्च शिक्षा का हब बन गया है। इसके अलावा गांधीनगर में अहमदाबाद की तुलना में अच्छी सुविधाएं भी हैं। हाल ही में गांधीनगर में टाउन प्लानिंग के तहत कई नई जमीनें तैयार की गई हैं, इसलिए वहां तेजी से नए प्रोजेक्ट शुरू हो रहे हैं।

खबरें और भी हैं...